डीएम सी रविशंकर के रडार पर कई निजी अस्पताल और हरिद्वार के फर्जी डॉक्टर


नवीन चौहान
डीएम सी रविशंकर के रडार पर कई निजी अस्पताल और फर्जी चिकित्सक है। कोरोना संक्रमण के मरीजों की जेब खाली कर रहे है। वही कई फर्जी चिकित्सक कोरोना संक्रमित मरीजों को खांसी जुखाम, बुखार की दवाईयां थमाकर उनके जीवन को खतरे में डाल रहे है। हरिद्वार के ग्रामीण इलाकों में कार्यरत फर्जी चिकित्सकों के कारण कोरोना संक्रमण के फैलने और मरीजों की मौत के मामले सामने आए है।
जिलाधिकारी सी रविशंकर हरिद्वार जनपद में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए हरसंभव प्रयास कर रहे है। बेहतर कार्ययोजना बनाकर अधिकारियों को निर्देशित कर रहे है। लैब संचालकों और निजी चिकित्सकों के मनमाफिक पैंसा वसूली पर भी जिलाधिकारी की नजर बनी हुई है। जनता की तमाम शिकायतों पर बेहद ही गोपनीय स्तर पर जांच कराई गई है। जिसके बाद जिलाधिकारी सी र​रविशंकर ने कई निजी अस्पतालों और फर्जी डॉक्टरों को रडार पर ले लिया है। हरिद्वार में फिलहाल एक चिकित्सक डॉ दीपक अग्रवाल को जेल भेजा जा चुका है। जिसके बाद चिकित्सकों में हड़कंप की स्थिति है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *