पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की रक्तदान मुहिम में हरिद्वार के सैंकड़ों युवा करेंगे योगदान


नवीन चौहान
पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की रक्तदान मुहिम में हरिद्वार के सैंकड़ों युवा उत्साह से लबरेज होकर अपना योगदान देंगे। रक्तदान शिविर का आयोजन नारायण दत्त तिवारी यूथ हॉस्टल भगत सिंह चौक पर किया जायेगा। रक्तदान शिविर का उदघाटन 17 मई 2021 की सुबह 10 बजे प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत करेंगे और युवाओं का मनोबल बढ़ायेंगे।


कोरोना संक्रमण काल में प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह सदैव अग्रणी भूमिका में रहे। जनता को कोरोना संक्रमण के प्रति जागरूक करने से लेकर तमाम चिकित्सा व्यवस्था को बेहतर बनाने में पूर्व मुख्यमंत्री ने अपना विशेष योगदान दिया। उत्तराखंड की जनता के प्रति सेवा और समर्पण की भावना सर्वविदित है। मुख्यमंत्री पद पर बने रहने के दौरान भी त्रिवेंद्र सिंह रावत ने जनहित के कार्यो को सर्वाधिक प्राथमिकता दी। जनता की समस्याओं को दूर करने का प्रयास किया और प्रदेश में भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टालरेंस की मुहिम की। हालांकि किसी भी विभाग से भ्रष्टाचार को दूर करना और अधिकारियों के चरित्र में बदलाव लाना आसान कार्य नही है। लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने टांसफर पोस्टिंग को भ्रष्टाचार मुक्त प्रक्रिया बनाकर मुख्यमंत्री की कुर्सी का सम्मान बढ़ाया। साल 2020 में उत्तराखंड में कोराना वायरस ने प्रवेश किया। लेकिन तत्कालीन मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कोरोना संक्रमण से प्रदेश की जनता को सुरक्षित बचाने के लिए हरसंभव प्रयास किए। 24 सौं घंटे जनता की सेवा की और तमाम जिलाधिकारियों को निर्देशित किया।
फिलहाल मुख्यमंत्री की कुर्सी से दूर रहने के बाबजूद त्रिवेंद्र सिंह रावत की प्रदेश की जनता की सेवा भावना में कोई कमी नही आई। आज भी वह पूरे मनोभाव से जनता को कोरोना संक्रमण से सुरक्षित बचाने के लिए प्रयासरत है। कोरोना संक्रमण को लेकर उनकी गंभीरता इसी बात से दिखाई पड़ती है कि प्रदेशभर में रक्तदान शिविर का आयोजित कर रक्तकोष संकलन में करने में जुटे है। पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र​ सिंह रावत की इसी मुहिम में 17 मई 2021 को हरिद्वार में रक्तदान शिविर का आयोजन किया जा रहा है। काफी संख्या में युवाओं ने पंजीकरण कराया है। रक्तदान शिविर के आयोजन करने वालों में विकास गर्ग, गगन नामदेव, वीर गुर्जर, दीपक भंडारी, दीपू कुमार, निकिता दीवान की विशेष योगदान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *