पिता ही निकला इकलौती बेटी आयुषी का कातिल, यमुना एक्सप्रेसवे पर फेंका था शव





योगेश शर्मा.
यमुना एक्सप्रेसवे पर सूटकेश में मिले शव की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। मृतका की पहचान आयुषी यादव 21 वर्ष पुत्री नीतेश यादव के रूप में हुई है। जांच में शक पिता की ओर गया और पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो वह टूट गया। उसने स्वीकार कर लिया कि अपनी बेटी की हत्या उसने ही गोली मारकर की थी।

पुलिस के मुताबिक नीतेश ने यह हत्या 17 नवंबर दोपहर को की थी। इसके बाद रात में अपनी ही गाड़ी से शव लाकर उसे यमुना एक्सप्रेसवे के सर्विस रोड पर फेंका दिया था। सूत्रों की मानें तो आयुषी बिना बताए अपने घर से कहीं चली गई थी, जैसे ही वह घर आई पिता अपना आपा खो बैठा और उसने बेटी को गोली मार दी।

इससे पूर्व रविवार की देरशाम मां ब्रजबाला और भाई आयुष ने पोस्टमार्टम गृह पर पहुंचकर शव की पहचान की। कार्यवाहक एसएसपी मार्तंड प्रकाश सिंह के मुताबिक मां और भाई ने मृतका की पहचान कर ली है। पूरे मामले का खुलासा जल्द किया जाएगा।

बतादें यमुना एक्सप्रेसवे के माइल स्टोन 108 पर ट्रॉली बैग में शुक्रवार (18 नवंबर) को युवती का शव मिला था। उसकी बाईं छाती में गोली का निशान था। सिर, हाथ और पैरों में चोट के निशान भी बेरहमी की तरफ इशारा कर रहे थे। आठ टीमें मृतका की शिनाख्त के लिए लगाई थीं



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *