Breaking News
Home / Haldwani / केबिनेट मंत्री मदन कौशिक भड़कते है पर करते कुछ नही, देखें विडियों

केबिनेट मंत्री मदन कौशिक भड़कते है पर करते कुछ नही, देखें विडियों

Read Time2Seconds

नवीन चौहान
केबिनेट मंत्री मदन कौशिक को भड़कने की मानो आदत सी हो गई है। वह पूरी ताकत के साथ अधिकारियों पर नाराजगी जाहिर करते है। ठेकेदारों से काम छीन लेने की चेतवनी देते है। लेकिन नतीजा सिफर ही नजर आता है। यही कारण है कि केबिनेट मंत्री मदन कौशिक के बार्ड के आसपास डेंगू के मच्छर घूम रहे है। हरिद्वार में सबसे ज्यादा डेंगू के मरीजों की तादात केबिनेट मंत्री मदन कौशिक की विधानसभा में है। लेकिन आज की खबर मदन कौशिक के गेल कर्मचारियों पर भड़कने को लेकर है।


केबिनेट मंत्री मदन कौशिक ने शहर में चल रहे गैस वितरण पाइप लाइन के कार्यो की सुस्त गति पर चेयरमेन गेल के साथ एक बैठक सीसीआर सभागार में बुलायी। इस बैठक में जिले के समस्त अधिकारियों की उपस्थिति में मंत्री मदन कौशिक ने गेल अधिकारियों से पूछा कि किस कारण तथा कहां से अनापत्ति न मिलने के कारण कार्य पूर्ण नहीं हुए है। जिसके बाद मंत्री मदन कौशिक ने गेल के अधिकारियों की लापरवाही बताते हुए कार्य की सुस्त गति पर नाराजगी जतायी। फिर मंत्री मदन कौशिक ने गेल अधिकारियों से कहा कि कुम्भ क्षेत्र में अपने कार्यो को निर्धारित अवधि में पूरा करना होगा। मार्च 2020 के बाद किसी भी प्रकार के कार्य की अनुमति जिला प्रशासन नहीं देगा। इसीलिए सभी कार्यो को प्राथमिकता पर सम्पन्न करें। मंत्री मदन कौशिक ने पूछा कि मेला क्षेत्र के लिए उनके पास क्या योजना है तो इस पर गेल के अधिकारी स्पष्ट जवाब नहीं दे पाये। कोई अधिकारी मेला क्षेत्र को लेकर अपनी योजना और कार्यो की प्राथमिकता नहीं बता सका। श्री कौशिक ने कहा कि मार्च 2020 तक सम्पूर्ण मेला क्षेत्र जिसमें घर आश्रम सहित मिलाकर कार्य पूरा हो जाना चाहिए। चेयरमेन ने आश्वासन दिया कि उनकी उपस्थिति में यह पहली मीटिंग है और वह 15 अक्टूबर से मात्र मेला क्षेत्र को लक्ष्य रखकर कार्य करायेंगे। जिसको मार्च 2020 तक पूर्ण कर मेला क्षेत्र की आबादी को आपूर्ति कर दी जायेगी। यदि उनके अधिकारी ऐसा नहीं कर पाये तो जिम्मेदारी तय होगी।  जिलाधिकारी दीपेंद्र चौधरी तथा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सेंथिल अबुदई कृष्ण राज एस ने कहा कि अंतिम समय अवधि निर्धारित कर लिये जाने के बाद भी यदि गेल समयबद्ध कार्य नहीं करती है तो गेल कार्यो को मेला क्षेत्र में नहीं करने दिया जायेगा। मेला कार्य हमारी प्राथमिकता। मंत्री श्री कौश्कि ने कहा कि यदि राज्य सरकार और जिला प्रशासन, विभागीय अधिकारियों से कोई सहयोग गेल को चाहिए तो उसके लिए हमे अवगत करायें, लेकिन मार्च 2020 के बाद  गेल को नहीं दिया जायेगा कोई  सहयोग। उन्होेंने कुम्भ के दौरान अखाड़ो के कैम्पों मे भोजनालयों के लिए गैस लाइन की अस्थाई व्यवस्था के भी निर्देष दिये। सभी अखाड़ो में अस्थाई गैस लाइन के माध्यम से गैस आपूर्ति किये जाने के लिए भी अपनी योजना बनाकर शीघ्र जिलाधिकारी और मेला अधिकारी को अवगत करायें।


कैबिनेट मंत्री श्री मदन कौशिक ने मीटिंग के दौरान घोषणा करते हुए कहा कि अंडर ग्राउंड विद्युत लाइन तथा गैस पाइप लाइन के चल रहे कार्यो में स्थानीय लोगों को प्राथमिकता दी जायेगी। जिसके माध्यम से स्थानीय लोगों को रोजगार दिये जायेंगे। साथ ही बनारस की तर्ज पर यहां स्थित दो श्मशान घाटों पर गैस संचालित क्रिमिटोरियम बनाये जायेंगे। जिसके लिए अधिकारियों को भी निर्देशित किया।

0 0
0 %
Happy
0 %
Sad
0 %
Excited
0 %
Angry
0 %
Surprise

About naveen chauhan

Check Also

वि​द्यार्थियों के जीवन में सबसे अच्छी दोस्त किताबें हैं: प्रधानाचार्य पीसी पुरोहित

प्रधानमंत्री मोदी ने बच्चों को परीक्षा के दौरान तनाव मुक्त रहने के दिये टिप्स, परीक्षा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!