निष्पक्ष पत्रकारिता से गणेश शंकर विद्यार्थी ने हिला दी थी अंग्रेजों की नींव: प्रेमचन्द्र अग्रवाल

नवीन चौहान.
हरिद्वार। पत्रकारों के प्रमुख संगठन नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स हरिद्वार की ओर से मूर्धन्य पत्रकार अमर शहीद स्वतंत्रता संग्राम सेनानी गणेश शंकर विद्यार्थी की जयंती समारोह उल्लास पूर्वक मनाई गई। इस अवसर पर उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल एवं जगतगुरु आश्रम के शंकराचार्य स्वामी राज राजेश्वराश्रम जी महाराज ने कार्यक्रम का विधिवत दीप प्रज्वलित कर शुभारंभ किया।

अतिथियों ने गणेश शंकर विद्यार्थी के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। इस अवसर पर समाज के विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली प्रतिभाओं को विधानसभा अध्यक्ष द्वारा गणेश शंकर विद्यार्थी सम्मान से नवाजा गया।

हरिद्वार में कनखल स्थित जगतगुरु आश्रम में आयोजित जयंती समारोह के अवसर पर विभिन्न क्षेत्रों से जुड़े लोगों ने प्रतिभाग किया इस दौरान साहित्यकार, कविकार, पत्रकार एवं राजनीतिक जगत से जुड़े लोगों ने अमर शहीद गणेश शंकर विद्यार्थी को श्रद्धांजलि अर्पित की। कार्यक्रम में उपस्थित सभी महानुभाव द्वारा गणेशशंकर विद्यार्थी के जीवन पर प्रकाश डालते हुए उनके कार्यों का अनुसरण करने का संकल्प लिया गया।

इस अवसर पर विधान सभा अध्यक्ष ने कहा की कलम की ताकत क्या होती है और निडर और निष्पक्ष पत्रकारिता किस तरह की जा सकती है। इसकी प्रेरणा हम गणेश शंकर विद्यार्थी के जीवन से ले सकते हैं। उन्होंने कहा की गणेशशंकर विद्यार्थी ऐसे पत्रकार थे।जिन्होंने अपनी कलम की ताकत से अंग्रेज़ी शासन की नींव हिला दी थी। वो एक ऐसे स्वतंत्रता संग्राम सेनानी थे, जो महात्मा गांधी के अहिंसक आंदोलन के समर्थकों और क्रांतिकारियों को समान रूप से देश की आज़ादी के लिए लड़ने में सक्रिय सहयोग प्रदान करते थे।

प्रेमचन्द्र अग्रवाल ने कहा की पत्रकारीय मूल्यों और जीवन सिद्धान्तों के प्रति यह उनकी प्रतिबद्धता थी कि उन्होंने उन आदर्शों के लिए दंगो को रोकने के दौरान अपनी जान की भी बाजी लगा दी। गणेश शंकर विद्यार्थी की शहादत के इतने वर्षों बाद भी राष्ट्रीय आंदोलन, हिंदी पत्रकारिता और साहित्य के इतिहास में उनके महत्वपूर्ण योगदानों को हमेशा याद रखा जायेगा।

श्री अग्रवाल ने कहा की पत्रकारिता देश का चौथा स्तम्भ कहलाता है। एक पत्रकार ही समाज को सही दिशा दिखाता है। लोगों की जन समस्याएं अपनी कलम द्वारा सामने लाकर उन्हें दूर करने में अपनी भूमिका बखूबी निभाता है।

विशिष्ट अतिथि के तौर पर उपस्थित जगतगुरु आश्रम के शंकराचार्य स्वामी राज राजेश्वराश्रम जी महाराज ने कहा कि पत्रकार और पत्रकारिता समाज का दर्पण हैं। गणेश शंकर विद्यार्थी पत्रकारिता के आदर्श महापुरुष हैं, जिन्होंने विपरीत परिस्थितियों में संघर्ष कर पत्रकारिता के उच्च मापदंड़ों को स्थापित करते हुए सामाजिक समरसता और साम्प्रदायिक सद्भाव के लिए अपने प्राणों का उत्सर्ग किया।

विधायक सुरेश राठौर ने कहा की पत्रकारिता का दृष्टिकोण सकारात्मक होना चाहिए। अखबार समाज का दर्पण होता है. ऐसी स्थिति में पत्रकारों की भूमिका समाज के लिए और भी बढ़ जाती है।

कार्यक्रम में महापौर अनीता शर्मा, वरिष्ठ पत्रकार जय सिंह रावत, पत्रकार संगठन के अध्यक्ष धर्मेंद्र चौधरी, आशीष मिश्रा, बालकृष्ण शास्त्री, सन्दीप रावत, ओम् प्रकाश, सुनील पांडेय, नितिन राणा सुनील पाल, रविंद्र पाल सिंह, तनवीर अली सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *