यूूटीयू के अंतिम वर्ष के छात्रों की परीक्षाएं होंगी आनलाइन: कुलपति डाॅ. ध्यानी

UTU's final year students' examinations will be online: Vice Chancellor Dr. Dhyani

नवीन चौहान
उत्तराखण्ड प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय ने अंतिम वर्ष के छात्रों की परीक्षा आनलाइन कराने का निर्णय लिया है। 19 जून को परीक्षा समिति की बैठक में यह निर्णय लिया गया। कोविड 19 महामारी के कारण स्थगित चल रही परीक्षाओं को लेकर लिया गया है ऐतिहासिक निर्णय है। आनलाइन परीक्षा कराने का निर्णय लेने वाला यह पहला विश्वविद्यालय बन गया है।

परीक्षा समिति की यह बैठक कुलपति डॉ पीपी ध्यानी की अध्यक्षता में आनलाइन की गई। परीक्षा समिति की 25वीं बैठक में निर्णय लिया गया कि समस्त तकनीकी पाठ्यक्रमों यथा- बी0टैक0, एम0टैक0, बी0फार्म, एम0फार्म0 बी0एच0एम0सी0टी0, एम0बी0ए, एम0बी0ए0 इन्टीग्रेटेड, एम0सी0ए0, एल0एल0बी0, बी0ए0एल0एल0बी0, एल0एल0एम0 व बी0एस0सी0 एग्रीकल्चर पाठ्यक्रमों के अंतिम वर्ष की विषम सेमस्टर की परीक्षाएं आनलाईन माध्यम से आयोजित करायी जायेगी।
आनलाईन परीक्षाएं कराये जाने हेतु विश्वविद्यालय में युद्धस्तर पर कार्यवाही गतिमान है। इसके लिए संस्थानों से भी समन्वय स्थापित किया जा रहा है ताकि आनलाईन परीक्षाओं
का सफलतापूर्वक संचालन हो सके। इस सम्बन्ध में सम्बद्ध संस्थानों को अलग से दिशा-निर्देश जारी किये जायेंगे। विश्वविद्यालय द्वारा परीक्षा से संबंधित सभी सुरक्षाएं तथा पारदर्शिता व नई तकनीकी का प्रयोग करने हेतु परीक्षा समिति की बैठक में सर्व सम्मति से निर्णय लिया गया।
परीक्षा समिति की उक्त आनलाईन बैठक में विश्वविद्यालय के कुलसचिव आर0पी गुप्ता, परीक्षा नियंत्रक डाॅ0 पी0के0 आरोड़ा, वित्त नियंत्रक श्रीमती कबिता नबियाल, सहायक लेखा अधिकारी सुरेश चन्द्र आर्य, डाॅ0 वाई0एस0नेगी निदेशक स्टेट इंस्टीट्यूट आफ होटेल मैनेंजमेंट एण्ड कैटरिंग टैक्नोलाॅजी नई टिहरी, सुनील कुमार, रघुनाथ सिंह व आई0टी0 सैल से गौरव भण्डारी आदि उपस्थित थे।

ये रही बैठक की खासियत
— यू0टी0यू0 बना राज्य में र्लाइव आनलाईन परीक्षाएं कराने वाला पहला विश्वविद्यालय।
— सत्र 2020-21 के विषम सेमेस्टर के अंतिम वर्ष की परीक्षाएं होंगी आनलाईन, परीक्षा कार्यक्रम होगा शीघ्र घोषित।
— छात्रों का होगा माॅक टेस्ट और शेयर किये जायेंगे वीडियो।
— आनलाइन परीक्षाओं का र्लाइव आयोजन सम्बन्धित संस्थानों/महाविद्यालयों के कक्ष निरीक्षक तथा केन्द्र अधीक्षक की देखरेख में होगा सम्पन्न।
— कोविड-19 महामारी के कारण उत्पन्न हुई चुनौतियों को अवसर में बदलना विश्वविद्यालय का लक्ष्य।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *