उन्नत भारत अभियान के तहत गांवों के विकास में सहयोगी बनेगा उत्तराखंड प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय

नवीन चौहान.
उन्नत भारत अभियान के तहत वीर माधो सिंह भंडारी उत्तराखंड प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय देहरादून जनपद के पांच गावों के विकास में सहयोग प्रदान करेगा। विश्वविद्यालय के कुलपति एवं देहरादून के जिलाधिकारी के अनुमोदन के उपरांत सिंहनीवाला गांव के साथ-साथ इस अभियान में धूलकोट, चक मनशाह, रुद्रपुर और भोपालपानी गांवों को सम्मिलित किया गया है।

उन्नत भारत अभियान केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय की योजना है। इस योजना में उच्च शिक्षण संस्थानों को ग्रामीण विकास में सहयोग करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है। इन संस्थानों के शिक्षक और छात्र ग्रामीण जीवन से जुड़ी मूल समस्याओं के समाधान सुझाने का प्रयास करते हैं। ग्रामीणों, स्वयंसेवी संगठनों और पंचायतीराज संस्थानों के साथ मिलकर उपलब्ध संसाधनों के बेहतर उपयोग के माध्यम से आजीविका के अवसरों में बृद्धि और ग्रामीण अंचलों की समस्याओं का निराकरण इस योजना के प्रमुख लक्ष्य हैं।

विश्वविद्यालय की ओर से पहले भी इस दिशा में कार्य किए हैं। वर्ष 2017 में सिंहनीवाला गांव को गोद लिया गया था। इस गांव में ग्रामीणों के लिए समय-समय पर जागरुकता और प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए जाते रहे हैं। ग्रामीण आजीविका को ध्यान में रखते हुए एक सामुदायिक प्रशिक्षण केंद्र की स्थापना गांव के बोक्सा जनजातीय किसान इंटर कालेज में की जा रही है।

कुलपति डाॅ पी पी ध्यानी व्यक्तिगत रूप से इन कार्यक्रमों की समीक्षा करते रहे हैं। विगत अप्रैल माह में ग्रामीणों के साथ उन्होंने जनसंपर्क करके गांव के उपलब्ध संसाधनों और अवसरों का जायजा लिया था। माध्यमिक विद्यालय में पुस्तकालय का उद्घाटन करते समय कुलपति ने बच्चों की बेहतर शिक्षा के लिए विश्वविद्यालय की ओर से हर संभव सहयोग का आश्वासन भी दिया था।

विश्वविद्यालय की ओर से इस कार्यक्रम का उत्तरदायित्व डाॅ. धीरेन्द्र सिंह गंगवार को परियोजना समन्वयक के रूप में सौंपा गया है। उनके सहयोग के लिए डाॅ. संदीप सिंह नेगी, मुहम्मद साकिब, श्रीमती मोनिका गुप्ता, श्रीमती अंशिका गोयल श्री अमित कुमार और श्री विजय सिंह बिष्ट को नामित किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *