शाही स्नान: सबसे पहले निरंजनी अखाड़े के संत करेंगे स्नान, समय और रूट निर्धारित

नवीन चौहान.
सोमवती अमावस्या पर होने वाले शाही स्नान को सफलता पूर्वक संपन्न कराने के लिए मेला प्रशासन ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। शाही स्नान से पहले प्रशासन ने अखाड़ों से वार्ता कर उन्हें समय और रूट के बारे में विस्तार से जानकारी दे दी है। मेला प्रशासन के अनुसार सबसे पहले निरंजनी अखाड़े के संत स्नान के लिए पहुंचेंगे। मेला प्रशासन ने बारी-बारी से अखाड़ों के स्नान का रूट और समय चार्ट जारी कर दिया है। आम श्रद्धालु हरकी पैड़ी छोड़कर अन्य घाटों पर स्नान कर सकेंगे। शाही स्नान के चलते आम श्रद्धालुओं के लिए हरकी पैडी क्षेत्र बंद रहेगा। पूरे दिन शाही स्नान चलेगा इसलिए शाम की आरती में भी श्रद्धालु शामिल नहीं हो सकेंगे। शाही स्नान को लाइव दिखाने की व्यवस्था दूरदर्शन के माध्यम से की गई है।

मेला प्रशासन द्वारा जारी किया गया अखाड़ों का समय और रूट
श्री निरंजनी अखाड़ा

सुबह 8.30 बजे छावनी से संत शाही स्नान के लिए प्रस्थान करेंगे। 8.45 बजे शंकराचार्य चौक, 9.15 बजे चंडी घाट चौराहा पहुंचेेंगे। 9.40 बजे रोड़ी में सामान रखेंगे। 10 बजे शॉल पुल होकर 10.15 बजे ब्रह्मकुंड में प्रवेश करेंगे। 10.45 बजे तक स्नान करेंगे और 11.05 बजे रोड़ी पहुंचेंगे। 11.35 बजे केशव आश्रम तिराहे से शंकराचार्य चौक होकर 12.55 बजे अखाड़ा पहुंचेंगे। 

जूना, अग्नि और आह्वान अखाड़ा
सुबह 8.30 बजे स्नान के लिए छावनी से जाएंगे और 9.20 बजे शंकराचार्य चौराहा पहुंचेंगे। 9.50 बजे चंडी घाट चौराहा पहुंचेंगे और 10.15 बजे रोड़ी में सामान रखेंगे। 10.35 बजे शॉल पुल से होकर 10.50 बजे ब्रह्मकुंड पहुंचेंगे। 11.20 बजे तक स्नान करेंगे और 11.40 बजे रोड़ी छावनी में वापस लौटेंगे। 12.15 बजे अखाड़ा चले जाएंगे।

महानिर्वाणी अखाड़ा 
9.30 बजे संत छावनी से प्रस्थान करेंगे। 10.10 बजे शंकराचार्य चौक और 10.40 चंडी घाट पहुंचेंगे। 11.05 बजे रोड़ी में सामान रखने के बाद शॉल पुल से होकर 11.50 बजे ब्रह्मकुंड पहुंचेंगे। 12.20 बजे तक स्नान करेंगे और 12.40 बजे रोड़ी क्षेत्र पहुंचेंगे। 01 बजे दोपहर केशव आश्रम तिराहे से होकर 1.40 बजे अखाड़ा पहुंचेंगे।

श्री निर्माणी, दिंगबर और निर्मोही अणि अखाड़ा
तीनों अखाड़ों के संत 10.30 बजे प्रस्थान करेंगे और 11.15 बजे चंडी घाट पहुंचेंगे। 11.55 बजे रोड़ी में सामान रखेंगे और शॉल पुल होकर 12.40 बजे ब्रह्मकुंड जाएंगे। 1.30 बजे तक स्नान करेंगे और दो बजे रोड़ी पहुंचेंगे। 3.10 बजे अखाड़ा पहुंचेंगे।

श्री पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन 
12 बजे संत प्रस्थान करेंगे और एक बजे शंकराचार्य चौक होकर 1.30 बजे चंडी घाट पहुंचेंगे। 2.10 बजे रोड़ी में सामान रखने के बाद 2.50 बजे ब्रह्मकुंड पहुंचेंगे। 3.20 तक स्नान करने के बाद 3.40 बजे रोड़ी पहुंचेंगे और 4.30 शंकराचार्य चौक होकर अखाड़ा जाएंगे।

श्री पंचायती अखाड़ा नया उदासीन
अखाड़े के संत 2.25 बजे प्रस्थान करेंगे और 3.25 बजे चंडी घाट जाएंगे। चार बजे रोड़ी से होकर 4.50 बजे ब्रह्मकुंड पहुंचेंगे। 5.05 बजे तक स्नान करने के बाद 5.25 बजे रोड़ी वापस पहुंचकर 6.35 बजे अखाड़ा पहुंच जाएंगे।

श्री निर्मल अखाड़ा
2.15 बजे प्रस्थान करने के बाद 3.40 बजे चंडी घाट पहुंचेंगे। 4.20 बजे रोड़ी से होकर पांच बजे ब्रह्मकुंड पहुंचेंगे। 5.25 बजे तक स्नान होगा और 5.50 बजे रोड़ी वापस आकर सात बजे अखाड़ा जाएंगे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *