हनी ट्रेपिंग में फंसाकर लोगों को लूटने वाले गैंग का खुलासा, दो महिलाओं समेत की पांच गिरफ्तार





नवीन चौहान.
उधमसिंह नगर के एसएसपी डॉ मंजूनाथ टीसी के निर्देश और मार्गदर्शन में नानकमत्ता थाना पुलिस ने एक ऐसे गैंग का खुलासा किया है जो सीधे सादे व्यक्तियों को अपने जाल में फंसाकर उनसे पैसे वसूल रहा था। इस गैंग की दो महिलाओं समेत पांच लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है, जबकि इस गैंग के कई अन्य सदस्य अभी फरार हैं। पुलिस ने उन्हें भी जल्द गिरफ्तार करने का दावा किया है।

पुलिस के मुताबिक दिनांक 25.5.22 को वादी जयराम निवासी अमरिया पीलीभीत उ0 प्र0 अपने मित्र यशपाल के साथ मोटरसाईकिल पर बरा से खटीमा जा रहा था। बिज्टी चौराहा सितारगंज से दो महिला मिली जिन्हांेने वादीगण से नानकमत्ता तक लिफ्ट लेकर के मो0न0 एक दुसरे से आदान प्रदान कर लिए और वादी से बात कर उन्हें अपनी मीठी-मीठी बातों में फसाकर के दोस्ती कर भरोसा दिलाकर अपनी मौसी के घर ग्राम बिडौरा मझौला में मिलने के लिए बुलाया। अगले दिन 26 मई को वादीगण को बुलाकर बिडौरा मझौला के मकान में पहले मेहमान नवाजी की उसके कुछ देर बाद 5-6 व्यक्ति घर पर बुलाकर के घर में बंधक बना लिया और झूठे आरोप लगाकर मुकदमे में जेल भेजने की धमकी देकर, तमंचे की नोक पर मारपीट, गाली गलौच कर जान से मारने की धमकी देते हुए जान बक्सने के लिए 50 हजार रुपये की डिमान्ड की। रुपये लेने जाने का बहाना करते हुए मौका मिलने पर वादीगण ने मौके से भागकर अपनी जान बचाई थी। जिस सम्बन्ध में वादी जयराम मोर्य की तहरीर के आधार पर थाना नानकमत्ता में मु0एफ0आई0आर0 न0- 123/2022 धारा 323 504 506 342 386 120ठ भा0दा०वि० पंजीकृत हुआ था जिसकी विवेचना उ0नि0 जावेद मलिक को सुपुर्द की गयी।

इसी गैंग ने एक अन्य मामले में वादी दिनेश अग्रवाल निवासी पीलीभीत मझौला उ0प्र0 जिसकी कपडे की दुकान मझौला मेन मार्केट में है। जिसके पास एक गीता नाम की महिला निवासी बनगवा खटीमा कपडे लेने आते रहती थी। जो उधार के कपडे ले जाती थी। गीता नाम की लडकी ने वादी के पास फोन कर कहा की एक महिला को भेज रही हूं वह कपडे खरीदना चाह रही है वादी ने कहा भेज दो गीता का नाम लेकर महिला वादी की दुकान पर आई वादी से तीन सूट लिये तथा 1500 रु0 उधार करके चली गई। अगले दिन से ही उक्त महिला का वादी के पास फोन आने लगा कहने लगी कि मैं सिसईखेडा में आपकी मार्केट बनवा दूंगी आप मेरे पास आ जाओ। दिनांक 10 जून को वादी सिसईखेडा पर गया तो उक्त महिला सडक पर मिली तथा महिला बोली चलो मेरे घर पर चलते हैं, मैं आपके पैसे दे दूंगी।

वादी को महिला अपना घर बताकर सिसईखेडा के पास ही एक घर मे ले गयी। कुछ देर बाद ही 5-6 लडके भी आ गये जिन्होंने वादी के साथ मारपीट करी और कहने लगे तूने हमारी महिलाओं के साथ गलत हरकतें करी है तेरे पास जितने पैसे हैं हमें दे, दे नही तो हम तुझे जान से मार देंगे। और वादी की जेब से 10 हजार रुपये व मोबाईल फोन छिन लिए तथा कहने लगे और दो लाख रुपये मगाओं तब तुम्हें छोडेंगे फिर उन्होंने वादी को धमकाकर वादी के लडके को फोन करने को कहा तथा उससे पेटीएम का पासवर्ड मांगा और वादी ने अपने लडके को फोन कर कपडे के सौदे का बहाना कर कोड मांगा अभियुक्तो ने वादी के लडके से दुकानदार बनकर फोन पर बात करी तथा कई बार पैसे डालने को कहा काफी वक्त तक वादी को बंधक बनाकर घर में रखा गया। उक्त सम्बन्ध में वादी की तहरीर की आधार पर थाना नानकमत्ता में मु0 एफ0आई0आर0 न0 131 22 धारा 323 506 342 386 120 ठ भा0द0वि0 पंजीकृत हुआ था जिसकी विवेचना 30नि0 दीवान सिहं बिष्ट को सुपुर्द की गयी ।

उपरोक्त संगीन घटनाआंे को देखते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जनपद ऊधमसिहंनगर के आदेशानुसार अपर पुलिस अधीक्षक नगर रुद्रपुर व क्षेत्राधिकारी खटीमा के निर्देशन में टीम का गठन किया गया। जिसके अनुपालन में विवेचक 30नि0 जावेद मलिक व उ0नि0 दीवान सिहं बिष्ट द्वारा विवेचना में ठोस सुरागरसी पतारसी करते हुए वादीगण से गहनता से पूछताछ कर अभियुक्तगण के नाम व हुलिया पूछा गया। जिसमें वादीगण द्वारा कुछ अधुरे नाम बताकर अभियुक्तगण की पहचान बताई गई, मुखबिर मामुर कर ठोस सुरागरसी पतारसी करते हुए नानकमत्ता क्षेत्र से उक्त हुलिया के व्यक्तियों की फोटो लेकर के वादीगण को दिखाकर अभियुक्तगण को चिन्हित किया गया। जिसमें अभियुक्तगण बूटा सिहं, गुरनाम सिहं, गुरविंदर सिहं, जैन्टी, सुखविन्दर सिहं, सन्नी, गोगी, गीता उर्फ सिमरन, गीता उर्फ मंजीत कौर, बलवन्त कौर के नाम प्रकास में आये। उपरोक्त अभियुक्तगण एक गैंग बनाकर अपराधिक षडयन्त्र रचकर, महिला सदस्य से सम्पर्क करवाकर आम लोगों को मिठी मिठी बातांे में फसाकर अपना शिकार बनाते थे। इस गैंग का सरगना बूटा सिंह है, जिस पर थाना नानकमत्ता में आधा दर्जन मुकदमे दर्ज हैं।

उपरोक्त प्रकरण में अभियुक्तगण गुरनाम सिंह को पूर्व में गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चूका ह।ै जबकी 12 अगस्त को अभियुक्तगण गुरविंदर सिहं, गोगी, बलवन्त कौर, गीता उर्फ मंजीत कौर को अभियुक्ता बलवन्त कौर के किराये के मकान ग्राम बिडौरा मझौला से गिरफ्तार किया गया। जबकी एक अन्य अभियुक्त सुखविन्दर सिहं को ग्राम कैथलिया जाने वाली सडक से आज 13 अगस्त को गिरफ्तार किया गया है। उपरोक्त अभियुक्तगण को मा0 न्या) पेश कर जिला कारागार हल्द्वानी भेजा जा रहा है।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *