केंद्रीय मंत्री डॉ निशंक की पहल पर पतंजलि ने कोरोना मरीजों के लिए जिलाधिकारी को सौंपी निशुल्क कोरोनिल


नवीन चौहान
कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों तथा देश में चिकित्सा हेतु सीमित संसाधनों के कारण पूरे देश में कोरोना के उपचार को लेकर एक असमंजस, असुरक्षा, अनिश्चितता और भय का माहौल है। कोरोना की दूसरी लहर पहले से ज्यादा खतरनाक दिखाई पड़ रही है। कोरोना काल में पतंजलि की चिकित्सकीय सेवाओं को विस्तार प्रदान करते हुए आचार्य बालकृष्ण ने रोगियों के उपचार हेतु लाखों रुपए की श्वासारि कोरोनिल किट जनपद के जिलाधिकारी सी रविशंकर व सीडीओ सौरभ गहरवाल को प्रदान की। कोरोनिल किट का उपयोग कोरोना संक्रमित मरीजों के घर—घर तक पहुंचाई जायेगी।
कनखल दिव्य योग मंदिर में आचार्य बालकृष्ण महाराज ने कहा कि आपदा की इस घड़ी में पतंजलि देशवासियों के साथ खड़ा है। कोरोना के समय सब स्वस्थ रहें, सुरक्षित रहें, यही हमारा प्रयास है। पूरा पतंजलि योगपीठ परिवार इसके लिए रात-दिन अहर्निश कार्य कर रहा है। केन्द्र सरकार, राज्य सरकार तथा हरिद्वार प्रशासन भी इसके लिए पूर्ण संकल्प से कार्य कर रहे हैं।
आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि पतंजलि तथा राज्य सरकार के संयुक्त प्रयास से संचालित हरिद्वार बेस हॉस्पिटल से बहुत बेहतरीन परिणाम आ रहे हैं। रोगियों के स्वस्थ होने का अनुपात भी बहुत अच्छा है। ऐसे में हमने सोचा कि हम तुरंत और क्या कर सकते हैं। हरिद्वार सांसद रमेश पोखरियाल निशंक जी का भी आग्रह था कि आपदा की इस घड़ी में पतंजलि के सेवा कार्यों का लाभ जनपदवासियों को मिल सके। तब हमने घरों पर क्वारंटाइन तथा आइसोलेशन में परेशानी का सामना करते रोगियों हेतु श्वासारि कोरोनिल किट उपलब्ध कराने का निर्णय लिया। हरिद्वार प्रशासन के माध्यम से हम श्वासारि कोरोनिल किट हरिद्वार के गाँव-गाँव व घर-घर पहुँचाने का प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा कि कोरोनिल किट पूरी तरह विज्ञान सम्मत है। यह रिसर्च व एविडेन्स बेस्ड एक प्रामाणिक औषधि है जिसके सकारात्मक परिणाम कोरोना की दोनों लहरों में देखने को मिले हैं। हमारा प्रयास है कि हम नैसर्गिक विधि से लोगों को इस संक्रमण से बाहर निकाल पायें, और संक्रमित रोगी कोविड निगेटिव होने के बाद किसी भी प्रकार के दुष्प्रभाव से बचा रहे। उन्होंने कहा कि वातारवरण में बहुत नकारात्मकता है। हम सबको प्रयास करना चाहिए कि स्वयं को बचाते हुए लोगों को शारीरिक व मानसिक रूप से हौंसला दें। पीडि़तों व जरूरतमंदों की वस्त्र, भोजन व औषधि आदि किसी भी रूप में सहायता करें। हम किसी की सहायता में निमित्त बन सकें। जिलाधिकारी सी रविशंकर ने कहा कि हरिद्वार स्थित बेस हॉस्पिटल के माध्यम से कोरोना रोगी पतंजलि की चिकित्सकीय सेवाओं का लाभ लेकर स्वस्थ हो रहे हैं। वर्तमान में बेस हॉस्पिटल में नॉन-इन्वेसिव वेंटिलेशन (Non-invasive ventilation) सुविधा प्रदान की जा रही है। इन्वेसिव वेंटिलेशन का प्रशिक्षण भी वहाँ दिया जा रहा है जिससे और अच्छे परिणाम आएँगे। बेस हॉस्पिटल को लेकर लोगों की प्रतिक्रियाएँ भी बहुत सकारात्मक मिल रही हैं। कोरोना काल में असाधारण सेवाओं के लिए जिलाधिकारी सी रविशंकर ने पतंजलि योगपीठ को धन्यवाद प्रेषित किया।
जिलाधिकारी सी रविशंकर ने आह्वान किया पतंजलि के सेवाकार्यों से प्रेेरणा लेते हुए जनपद के अन्य संस्थान, आश्रम इत्यादि भी आगे आएँ और विपदा की इस घड़ी में जनपदवासियों का सहयोग करें। इस अवसर पर सीडीओ सौरभ गहरवार, हरिद्वार सांसद प्रतिनिधि ओम प्रकाश जमदग्नि तथा प्रशासनिक अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *