श्रीदेव सुमन से सम्बद्ध 14 कालेजों को लाभ पहुंचाने वाले नपेंगे अधिकारी-कर्मचारी

नवीन चौहान।
नई टिहरी। श्री देव सुमन विवि के कुलपति डा. पीपी ध्यानी ने प्रदेश के 14 निजी महाविद्यालयों एंव संस्थानों द्वारा स्वीकृत सीटों से अधिक प्रवेश करने और विश्व विद्यालय द्वारा परीक्षा सम्पन्न कराने के प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए आंतरिक जांच के आदेश दिए हैं।

उन्होंने कहाकि जांच में दोषी पाए जाने वाले निजी महाविद्यालय, संस्थान और विश्व विद्यालय के अधिकारी व कर्मचारियों को किसी भी सूरतेहाल में बक्शा नहीं जाएगा। कुलपति डा. पीपी ध्यानी ने बताया कि इस प्रकरण में छात्र-छात्राओं की कोई गलती नहीं है। लेकिन निजी कालेजों और विश्व विद्यालय के कतिपय कर्मचारियों व अधिकारियों ने घालमेल किया। जिसके चलते छात्रों का परीक्षाफल घोषित नहीं हो पाया।

छात्रों के भविष्य को ध्यान में रखते हुए परीक्षा परिणाम घोषित करने हेतु कार्य परिषद की बैठक शीघ्र बुलाने का निर्णय किया है। डा. ध्यानी ने बताया कि कार्य परिषद की बैठक में 14 निजी महाविद्यालयों द्वारा स्वीकृत सीटों से अधिक प्रवेश करने के अवैध कृत्य पर कठोर कार्यवाही करने का निर्णय भी किया जाएगा।

डा. ध्यानी ने बताया कि सम्पूर्ण जांच के बाद अतिरिक्त सीटों पर परीक्षाएं कराने पर विवि के संलिप्त अधिकारी, कर्मचारी चाहे वह किसी भी पद पर आसीन हों, उसके खिलाफ ठोस कार्यवाही की जाएगी। इसी के साथ डा. ध्यानी ने वर्ष 2013 से विवि द्वारा आयोजित सभी परीक्षाओं की गयी सभी प्रवेश व परीक्षाआंें की सम्पूर्ण जानकारी उपलब्ध कराने के लिए कुल सचिव को निर्देशित किया है।

बताते चलें कि श्री देव सुमन विवि के कुलपति डा. पीपी ध्यानी उच्च शिक्षा के उन्नयन के लिए सकारात्मक सोच के साथ कार्य कर रहे हैं। विवि की नींव को मजबूत बनाने के लिए शैक्षणिक भ्रष्टाचार को दूर करने की दिशा में प्रभावी कदम उठाए हैं।

उन्होंने ऑन लाईन आवेदन व निजी कालेजों की सम्बद्धता को लेकर पारदर्शी नीति से कार्य किया, लेकिन विवि के कुछ अधिकारियों व कर्मचारियों ने सांठगांठ कर 14 निजी कालेजों को लाभ पहुंचाने के लिए स्वीकृत सीटों से अधिक छात्रों के प्रवेश होने पर परीक्षाएं आयोजित करा दीं। जिसके बाद कुलपति डा. ध्यानी ने अवैध प्रवेश पाने वाले छात्रों का परीक्षाफल रोक दिया और जांच कमेटी गठित कर दी।

इस प्रकरण में कुलपति डा. ध्यानी ने छात्रों के हितों को सर्वोपरि रखते हुए परीक्षाफल घोषित करने व आरोपियों के खिलाफ कठोर कार्यवाही करने के लिए रणनीति तैयार कर ली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *