मोटर साईकिल गैंग चढ़ा हरिद्वार पुलिस के हत्थे





योगेश शर्मा.
थाना बहादराबाद पुलिस ने एक अंतराज्यीय बाइक चोर गिरोह का खुलासा करत हुए उनके कब्जे से चोरी की 21 मोटरसाइकिल बरामद की है। गैंग का खुलासा करने वाली पुलिस टीम को DIG गढ़वाल रेंज ने 35 हजार का ईनाम देने की घोषणा की है।

पुलिस के मुताबिक 14-11-22 बंटी कुमार निवासी ग्राम रावली महदूद हरिद्वार, 20-11-22 को राव मेहताब निवासी सलेमपुर हरिद्वार तथा 20-11-22 को कामिल निवासी दादुपुर गोविन्दपुर हरिद्वार ने तहरीर देते हुए अपनी अपनी मोटर साइकिल चोरी होने की सूचना दी थी। तहरीर के आधार पर थाना बहादराबाद में मु0अ0स0-446/22, 460/22 व 461/22 धारा 379 बनाम अज्ञात पंजीकृत किया गया।

लगातार हुई बाइक चोरी की घटना से क्षेत्र में सनसनी फैली हुई थी। पुलिस के लिए भी वाहन चोरी गिरोह का पकड़ना एक चुनौती बनी हुई थी। एसएसपी अजय सिंह के निर्देश पर थाना स्तर पर स्ट्रीट क्राइम की रोकथाम व अनावरण हेतु टीम का गठन किया गया। मुकदमा उपरोक्त में घटनास्थल के आसपास आने-जाने वाले मार्गों पर लगे कई CCTV कैमरों का बारीकी से अवलोकन किया गया।

थाना सिडकुल, रानीपुर, बहादराबाद में पिछले 05 वर्ष में चोरी, छिनोती, टप्पेबाजी जैसे अपराध में प्रकाश में आये अभियुक्तों का भौतिक सत्यापन किया गया। सी.सी.टी.वी के अवलोकन से 4 लोगों द्वारा घटना कारित किये जाना प्रकाश में आया, जिनकी तस्दीकी हेतु मुखबिर तंत्र को सक्रिय किया गया। थाना क्षेत्रान्तर्गत जगह जगह वाहन चैकिंग अभियान चलाया गया। जिसके क्रम में दिनांक 22-11-22 को दौराने सुरागरसी पतारसी तलाश माल मुलज्मिमान के मुखबिर से सुचना प्राप्त हुई कि थाना क्षेत्रान्तर्गत बाइक चोरी की घटनाएं करने वाले अभियुक्तगण मोटर साईकिल पर सवार होकर शांतरशाह की ओर जा रहे है।

सूचना पर पुलिस ने अभियुक्तों का पीछा कर अभियुक्तों को शांतरशाह रोड पर मोबाइल टावर के पास बने खँडहर से मय चोरी की 21 मोटर साईकिलों के गिरफ्तार किया गया। अभियुक्तों द्वारा बताया कि मुकुल जो कि पूर्व में थाना सिडकुल से जेल जा चुका है उसी के द्वारा संजू, आस मोहम्मद व आसिफ के साथ मिलकर उक्त घटनाओं को कारित करने की योजना बनाई थी।

मुकुल मूल रूप से पानीपत का निवासी है, सिडकुल से जॉब छूटने के बाद संजू के साथ मिलकर मो0 सा0 चोरी करने लगा। जिसमें उसका सिडकुल का साथी आसिफ और आसिफ का जीजा आस मोहम्मद लोकल का होने के नाते रेकी करने और चोरी की मो0 सा0 को बिकवाने के साझेदार रहे। इन लोगों द्वारा पुछताछ में यह भी स्वीकार किया है कि उनके द्वारा यह सभी मो0 सा0 सिडकुल, बहादराबाद व रानीपुर के औधोगिक क्षेत्र सहित हरिद्वार के अन्य स्थानों से चोरी की गई है।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *