कुंभ 2021 कोरोना टेस्ट फर्जीवाड़े में जांच टीम के सामने पेश हुए मैक्स कारपोरेट के अधिकारी

नवीन चौहान
कुंभ मेले के कोविड टेस्ट फर्जीवाड़े के मामले में जांच कर रही टीम के सामने आरोपी कंपनी मैक्स कारपोरेट सर्विसेज और नालवा लैब के संचालकों को तलब किया गया। आरोपी लैब और कंपनी के संचालकों से करीब छह घंटे तक जांच टीम ने पूछताछ की।
सीडीओ सौरव गहरवार की अध्यक्षता में बनी कमेटी ने मैक्स कॉरपोरेट सर्विसेज के संचालकों से करीब 6 घंटे पूछताछ की गई। सूत्रों के मुताबिक बंद कमरे में यह पूछताछ की गई। जिसमें कुछ अहम जानकारी सामने आने की बात कही जा रही है। टेस्टिंग लैब नालवा के संचालकों से एसआईटी ने भी अलग से पूछताछ की। सीडीओ सौरव गहरवार ने बताया कि जांच कमेटी ने मैक्स कॉरपोरेट सर्विसेज से कुछ और अहम दस्तावेज मांगे हैं। उन्होंने बताया कि आज दो ही संस्थाओं से पूछताछ की गई। तीसरी आरोपी कंपनी लालचंदानी लैब ने सोमवार को जांच टीम के सामने पेश होने की बात कही है।
वहीं दूसरी ओर इस पूरे मामले में मैक्स कॉरपोरेट सर्विसेज के संचालक शरद पंत और मल्लिका पंत ने खुद को बेकसूर बताया। उन्होंने मीडिया से कहा कि उन्हें बदनाम किया जा रहा है। मैक्स कॉरपोरेट सर्विसेज टेस्टिंग लैब नहीं है। इसलिए जिन दो लैबों ने टेस्ट किए हैं उन्हीं से सवाल किए जाने चाहिए। उन्होंने कहा कि वह जांच में अधिकारियों का पूरा सहयोग करेंगे।
बतादें जून के दूसरे सप्ताह में कुंभ मेले के दौरान हुए कोविड टेस्ट में गड़बड़ियों का मामला सामने आया था। शासन के निर्देश पर हरिद्वार के जिलाधिकारी सी. रविशंकर ने सीडीओ की अध्यक्षता में एक जांच कमेटी का गठन किया था। 17 जून को सीएमओ डॉ. एसके झा की ओर से हरिद्वार नगर कोतवाली में एक फर्म और दो टेस्टिंग लैब के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था। मुकदमा दर्ज होने के बाद एसएसपी हरिद्वार ने जांच के लिए एसआईटी (SIT) का गठन कर दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *