कुंभ कोरोना टेस्ट घोटाले में कई की फंसेंगी गर्दन, जांच का दायरा बढ़ते ही सामने आएगा सच

Many will be caught in the Kumbh Corona test scam, the truth will come out as soon as the scope of investigation increases

नवीन चौहान

कुंभ 2021 में कुंभ स्वास्थ्य विभाग की नाक के नीचे हुए कोरोना टेस्ट घोटाले की परत दर परत खुलती जा रही है। जिलाधिकारी सी रविशंकर के आदेश पर मैक्स कोरपोरेट समेत दिल्ली की तीन लैब के खिलाफ केस दर्ज कराने के आदेश दिये गए हैं। ऐसे में अब जांच की कार्रवाई आगे बढ़ायी जाएगी।
जानकारों का मानना है कि केस दर्ज होने के बाद इस पूरे मामले की गंभीरता से जांच करने के लिए एसआईटी का गठन किया जाएगा। एसआईटी इस घोटाले की तह में जाने के लिए उस हर व्यक्ति से पूछताछ करेगी जो इस टेस्ट प्रक्रिया में प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से जुड़ा है।

जानकारों की मानें तो टेंडर छोड़ने में शामिल अधिकारियों से भी पूछताछ होगी। टेंडर देते समय नियमों का पूरी तरह पालन हुआ या नहीं यह सब भी देखा जाएगा। ऐसे में यदि किसी अधिकारी या कर्मचारी की संलिप्तता सामने आई तो उस पर भी कार्रवाई निश्चित है।

इस पूरे मामले में एक बात तो साफ हो गई है कि जिलाधिकारी सी रविशंकर ने जिस तरह से इस मामले के सामने आने के बाद जांच में तेजी दिखायी है और प्रथम दृष्टया जांच के आधार पर आरोपी लैब के खिलाफ केस दर्ज करने के आदेश दिये हैं उससे इस घोटाले में जुड़े सभी लोगों पर कार्रवाई तय है।

जिलाधिकारी ने भी साफ कह दिया है कि घोटाले से जुड़े किसी भी व्यक्ति को छोड़ा नहीं जाएगा, सभी के खिलाफ जांच के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। जिलाधिकारी द्वारा केस दर्ज कराने के आदेश के बाद स्वास्थ्य विभाग में भी हड़कंप मचा है। खासतौर पर उन अधिकारियों और कर्मचारियों की नींद उड़ी है जो इस प्रकरण से जुड़े हैं। ऐसे में माना ये भी जा रहा है कि कार्रवाई की जद में कुछ डॉक्टर भी आ सकते हैं।

वहीं लोग कह रहे हैं कि बिना अधिकारियों की मिलीभगत के यह घोटाला नहीं हो सकता, जांच यदि निष्पक्ष तरीके से की जाए तो इसमें शामिल लोगों के नाम सामने आ जाएंगे। विपक्ष भी इस मामले को लेकर सरकार को घेरने का प्रयास कर रहा है।

हालांकि प्रदेश सरकार ने जिस तरह से जांच में तेजी दिखाकर कार्रवाई शुरू की है उससे यह भी साफ है कि सरकार विपक्ष को अंगुली उठाने का कोई मौका देना नहीं चाहती। अब देखना यही है कि इस मामले में किस किस के नाम सामने आते हैं। कोरोना जांच करने वाली सभी एजेंसियों की जांच कराए जाने की बात भी सामने आ रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *