निरंजनी अखाड़े के सचिव महंत रविंद्रपुरी बने अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष

नवीन चौहान.
प्रयागराज में आयोजित की गई महत्वपूर्ण बैठक में निरंजनी अखाड़े के सचिव महंत रविंद्र पुरी को अखाड़ा परिषद का अध्यक्ष घोषित किया गया है. और 7 अखाड़ों के समर्थन प्राप्त होने का दावा किया गया है। श्री महन्त रविन्द्र पुरी का अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद का अध्यक्ष बनने पर काॅलेज परिवार में हर्ष की लहर दौड़ गई।

एस.एम.जे.एन. पी.जी. काॅलेज प्रबन्ध समिति के अध्यक्ष महन्त रविन्द्र पुरी जी महाराज का आज प्रयागराज में अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद का अध्यक्ष बनने पर काॅलेज परिवार में हर्ष की लहर व्याप्त हो गयी.

इस अवसर पर काॅलेज के प्राचार्य डाॅ. सुनील कुमार बत्रा ने हर्ष व्यक्त करते हुए कहा कि पूरे काॅलेज परिवार के लिए यह अत्यंत गौरवपूर्ण क्षण है कि कालेज प्रबंध समिति अध्यक्ष श्री मंहत रविन्द्र पुरी को आज संवैधानिक तरीके से अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद का अध्यक्ष चुना गया है। डाॅ. बत्रा ने कहा कि श्री महन्त रविन्द्र पुरी जी के कुशल नेतृत्व में महाकुम्भ-2021 सकुशल सम्पन्न हुआ तथा श्रीमहन्त रविन्द्र पुरी जी के कुशल नेतृत्व में ही महाविद्यालय निरन्तर प्रगति के पथ पर अग्रसर है। डाॅ. बत्रा ने कहा कि जिस प्रकार श्री महन्त द्वारा सम्पूर्ण लाकडाउन में सेवाभाव कार्य किया गया उसमें यह कहने में अतिश्योक्ति नहीं होगी कि समाज के सभी वर्गों की श्री महन्त जी द्वारा सहायता की गयी है। समस्त काॅलेज परिवार परमपूज्य श्री महन्त रविन्द्र पुरी जी महाराज के सराहनीय कार्यो के लिए गौरवान्वित है। डाॅ. बत्रा ने कहा कि प्रदेश सरकार ने कोरोना संकट से व्यवस्थित रुप से निपटने के लिए तत्कालीन अपर कुम्भ मेला अधिकारी को नोडल अधिकारी व काॅलेज प्रबन्ध समिति के अध्यक्ष व माँ मंशा देवी मन्दिर ट्रस्ट के अध्यक्ष पूज्य श्री महन्त रविन्द्र पुरी जी महाराज को मदर सी.एस.ओ. नामित किया था।

अधिष्ठाता छात्र कल्याण डाॅ. संजय कुमार माहेश्वरी ने कहा कि काॅलेज प्रबन्ध समिति के अध्यक्ष व श्री मंशा देवी मन्दिर ट्रस्ट के अध्यक्ष श्री महन्त रविन्द्र पुरी जी महाराज द्वारा लगभग रुपये तीन करोड़ से अधिक की आर्थिक मदद की गयी। लाॅकडाउन में प्रतिदिन लगभग रुपये पचास हजार का भोजन श्री महन्त जी की ओर से निराश्रित, प्रशासन के कर्मचारी, पुलिस, चिकित्सक, सफाई कर्मचारी जो सेवा में रत हैं, लगातार उनके भोजन की व्यवस्था अविरल चलायी गयी। कोई भी व्यक्ति भूखा न सोए ऐसे विचारों को श्री महन्त जी द्वारा सत्य किया गया, जो निःसन्देह एक सराहनीय कार्य है, इस सामाजिक सेवा हेतु श्री महन्त जी का कोई सानी नहीं है, जिसके लिए श्री महन्त जी को सादर वंदन एवं अभिनन्दन।

मुख्य अनुशासन अधिकारी डाॅ. सरस्वती पाठक ने श्री महन्त रविन्द्र पुरी जी महाराज को अ.भा.अ.प. का अध्यक्ष बनने पर बधाई देते हुए कहा कि श्री महन्त व पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी के पूज्य मनीषियों का यह महाविद्यालय छात्रों को श्रेष्ठ वातावरण अपने सपनों को पूरा करने के लिए उपलब्ध कराता है। यहाँ से बहुत बड़ी संख्या में राजनेता, प्रशासक, संगीतज्ञ, सी.ए. एवं सामाजिक कार्यकर्ता इस ज्ञान, कर्मभूमि से निकलकर अपनी सुगन्ध हरिद्वार एवं देश-विदेश में फैला रहे हैं। ¬इस अवसर पर डाॅ. मन मोहन गुप्ता, डाॅ. तेजवीर सिंह तोमर, डाॅ. जगदीश चन्द्र आर्य, विनय थपलियाल, वैभव बत्रा,डाॅ. सुषमा नयाल, श्रीमती रिंकल गोयल, रिचा मिनोचा, डाॅ. आशा शर्मा, डाॅ. मोना शर्मा, डाॅ. निविन्धया शर्मा, डाॅ. अमिता श्रीवास्तव, विनीत सक्सेना, डाॅ शिव कुमार,डाॅ मनोज सोही, डाॅ. प्रज्ञा जोशी, डाॅ. पूर्णिमा सुन्दरियाल आदि प्राध्यापकों व कर्मचारियों ने श्रीमहन्त जी को अपनी शुभकमनायें एवं बधाइयाँ प्रेषित की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *