कुंभ 2021: अखाड़ों ने ब्रहमकुंड पर किया शाही स्नान, अधिकारियों ने भी किया मां गंगा का पूजन

नवीन चौहान.
हरिद्वार। चैत्र पूर्णिमा पर हरिद्वार कुंभ में अखाड़ों ने अपने तय समय के अनुसार शाही स्नान किया। कुंभ मेले का आज यह अंतिम शाही स्नान है। शाही स्नान शुरू होने से पूर्व मेलाधिकारी दीपक रावत, पुलिस महानिरीक्षक महाकुम्भ संजय गुंज्याल एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, महाकुम्भ मेला जनमेजय खण्डूरी ने मंगलवार की सुबह हरकीपैड़ी ब्रह्मकुण्ड पहुंच कर महाकुम्भ के सकुशल सम्पन्न होने के लिये माॅ गंगा व अन्य देवी-देवताओं की पूजा-अर्चना करते हुये उन्हें नमन किया।

अंतिम शाही स्नान पर्व चैत्र पूर्णिमा के अवसर पर समय 10 बजे तक सम्पूर्ण कुम्भ मेला क्षेत्र के घाटों पर स्नानार्थियों की संख्या लगभग 19 हजार रही। किन्नर अखाड़़े की आचार्य महामंडलेश्वर लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी भी अपने अखाड़़े के संतों के साथ हरकी पैड़ी पर गंगा स्नान के लिए पहुंची हैं। अखाड़़े के संतों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की अपील स्वयं संतजन ही कर रहे हैं। श्री महानिर्वाणी और श्री शंभू पंचायती अटल अखाड़़े के साधु संत स्नान के लिए अपने तय स मय के अनुसार ब्रह्मकुंड हरकी पैड़ी पहुंचे और मां गंगा में शाही स्नान किया।
मेलाधिकारी दीपक रावत सुबह ही मेला नियंत्रण भवन (सी0सी0आर0) पहुंचे। वहां से वे शाही स्नान रूट का निरीक्षण करते हुये हरकीपैड़ी पहुंचे, जहां पर उन्होंने महाकुम्भ की व्यवस्थाओं के सम्बन्ध में अधिकारियों से जानकारी ली। इसके पश्चात मेलाधिकारी हरकीपैड़ी ब्रह्मकुण्ड पहुंचे, जहां उन्होंने महाकुम्भ के सकुशल सम्पन्न होने के लिये माॅ गंगा व अन्य देवी-देवताओं की पूजा-अर्चना करते हुये उन्हें नमन किया।
सर्वप्रथम निरंजनी अखाड़े के सचिव और मनसादेवी ट्रस्ट के सचिव श्रीमहंन्त रवीन्द्र पुरी जी महाराज सहित अन्य सन्तों का आगमन शाही स्नान के लिये शुरू हो गया, जिनका स्वागत पुष्प वर्षा कर हुआ। शाही स्नान के समय साधु-सन्तों के हरहर महादेव की ध्वनि से पूरी हरकीपैड़ी गुंजायमान हो रही थी। इस तरह पूजा-अर्चना एवं विधि-विधान से चैत्र पूर्णिमा के शाही स्नान का शुभारम्भ हो गया। शाही स्नान के समय कोविड उपयुक्त व्यवहार- सामाजिक दूरी, मास्क लगाना आदि का पूरा पालन किया जा रहा था। अपर मेलाधिाकरी हरवीर सिंह एवं रामजीशरण शर्मा के नेतृत्व में मेला प्रशासन की ओर से हरकीपैड़ी पर साधु-महात्माओं को मास्क का वितरण भी किया जा रहा था। इतने में महन्त हरिगिरि जी महाराज सहित श्री पंचदशनाम जूना अखाड़ा, श्री अग्नि और आह्वान आखाड़ा के सन्त-महात्मा शाही स्नान के लिये पहुंच गये, जिनका भव्य स्वागत किया गया। इस तरह स्नान का क्रम चलता रहा।
मेलाधिकारी दीपक रावत ने इस अवसर पर पत्रकारों से बातचीत करते हुये कहा कि महाकुम्भ की व्यवस्थाओं की तैयारियों के समय उन्हें कई तरह के अनुभव हुये। समय पर महाकुम्भ के कार्य सम्पन्न कराना हमारे लिये चलेंजिंग थे। सभी से तालमेल रखते हुये सभी कार्य सकुशल सम्पन्न हुये, जिससे मैं सन्तुष्ट हूं।
इस अवसर पर श्री गंगा सभा के अध्यक्ष प्रदीप झा, पुलिस महानिरीक्षक संजय गुज्याल, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महाकुम्भ जन्मेजय खण्डेरी, अपर मेलाधिकारी हरवीर सिंह, रामजी शरण शर्मा, उप मेलाधिकारी दयानन्द सरस्वती, सेक्टर मजिस्ट्रेट योगेश सिंह मेहरा सहित अन्य अधिकारी/पदाधिकारीगण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *