मेलाधिकारी दीपक रावत ने बम विस्फोट की तैयारियों को परखा


गगन नामदेव
मेला प्रशासन एवं जिला प्रशासन द्वारा महाकुम्भ मेला के दौरान सम्भावित आपदाओं के मद्देनजर माॅक ड्रिल का आयोजन किया गया, जिसमें अलग-अलग परिस्थितियों में-आग लगना एवं बम बिस्फोट, गैस रिसाव जैसी संभावित घटनाओं का प्रदर्शन किया गया।
बैरागी क्षेत्र में 09 बजकर 11 मिनट पर सिलेण्डर से आग लगने की सूचना कण्ट्रोल रूम को प्राप्त हुई। तुरन्त ही बैरागी से स्टेजिंग एरिया के लिये टीम रवाना हुई। फायर टेण्डर, एस0पी0ओ0 और एसएम मौके पर पहुंचे। उन्होंने त्वरित गति से आग बुझाने की कार्रवाई प्रारम्भ कर दी। इस तरह 09 बजकर 32 मिनट पर आग बुझा दी गयी तथा बचाव व राहत कार्य अभी भी जारी है। अग्नि काण्ड में चार घायल लोगों को चीला मार्ग से एम्स ऋषिकेश भिजवाया गया।
बैरागी क्षेत्र में ही 9 बजकर 40 मिनट पर दो टेण्टों में आग लगने की सूचना प्राप्त हुई, मौके पर तुरन्त टीम पहुंची, जिसने समय रहते आग पर काबू पा लिया, जिसमें चार लोग आंशिक रूप से घायल हुये, जिनका मौके पर ही प्राथमिक उपचार किया गया। इस प्रकार 9 बजकर 58 मिनट पर बैरागी की सभी टीम स्टेजिंग एरिया में वापस आ गयी।
माॅक ड्रिल के दौरान कण्ट्रोल रूम को 9 बजकर 15 मिनट पर टेलीफोन नम्बर-7011289177 से एक काॅल आती है, जिसमें टेलीफोन पर दूसरी तरफ से बोलने वाले व्यक्ति ने मीडिया सेण्टर पर आग लगने की सूचना दी। तुरन्त ही 9 बजकर 25 मिनट पर लालजी वाला से फायर टेण्डर मीडिया सेण्टर पहुंचे तथा आग बुझाने की कार्रवाई त्वरित गति से चली। इस प्रकार 9 बजकर 41 मिनट पर मीडिया सेण्टर में लगी आग पर काबू पा लिया गया। आग को पूरी तरह बुझा दिया गया है। इस घटना में चार लोग घायल हुये, जिसमें से दो को बेस हाॅस्पिटल तथा दो को नीलधारा अस्पताल पहुंचाया गया।
माॅक ड्रिल के दौरान मेला नियंत्रण भवन के निकट साॅल क्षेत्र में 09 बजकर 24 मिनट पर बम बिस्फोट की सूचना प्राप्त हुई। इस प्रकार सूचना मिलते ही 09 बजकर 27 मिनट पर बीडीएस टीम साॅल क्षेत्र पहुंची। इसके तुरन्त बाद ही 9 बजकर 31 मिनट पर एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीम भी साॅल क्षेत्र पहुंच गयी। संयुक्त टीम ने तुरन्त कार्रवाई करते हुये 09 बजकर 46 मिनट पर बम बिस्फोट में घायल 10-15 लोगों में से आठ लोगों को पावन धाम स्थित बेस हाॅस्टिल पहुंचाया, जहां उनका तुरन्त उपचार प्रारम्भ हुआ। इस प्रकार 9 बजकर 50 मिनट पर सभी शेष घायलों को बेस अस्पताल भिजवाया गया। एनडीआरएफ का बचाव व राहत कार्य जारी था।
इस दौरान साॅल क्षेत्र में ही गैस रिसाव की सूचना प्राप्त हुई, जिस पर कण्ट्रोल करने की कार्यवाही जारी है। इस घटना में एक व्यक्ति घायल हुआ है, जिसका तुरन्त ही प्राथमिक उपचार किया गया। टीम ने तुरन्त कार्यवाही करते हुये गैस रिवाव पर काबू पा लिया । एनडीआरएफ की टीम ने एक संदिग्ध व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया है, जिससे पूछताछ जारी है। राहत व बचाव कार्य सम्पन्न हो गया है।
माॅक ड्रिल के दौरान मेलाधिकारी दीपक रावत, जिलाधिकारी सी0 रविशंकर, एन0डी0एम0ए0 के वरिष्ठ सलाहकार, मेजर जनरल दत्ता, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कुम्भ मेला जन्मेजय खण्डूरी, अपर मेलाधिकारी रामजी शरण शर्मा सहित मेला प्रशासन एवं जिला प्रशासन के अधिकारीगण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *