गंभीर रोगों में भी कारगर हर्बल इम्युनिटी बूस्टर: डाॅ. अशोक चौहान

Herbal immunity booster effective even in serious diseases: Dr. Ashok Chauhan

गंभीर रोगों में भी कारगर हर्बल इम्युनिटी बूस्टर: डाॅ. अशोक चौहान
मेरठ। कोरोना संक्रमण के इलाज में आयुर्वेदिक औषधियां महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। ऐसे ही गंभीर रोगों के उपचार में हर्बल इम्युनिटी बूस्टर रामबाण साबित हो रहा है। दावा किया जा रहा है कि सामान्य लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में भी यह कारगर है।
दौराला क्षेत्र के मटौर स्थित देव भारती आयुर्वेदिक फार्मेसी के कार्यालय में केंद्रीय अल्पसंख्यक मंत्रालय की वक्फ परिषद के सदस्य व वित्त समिति के चेयरमैन रहीस खान पठान ने शुक्रवार को भारती आयुर्वेदिक फार्मेसी की डिवाइन इक्युनिटी बूस्टर का लोकार्पण किया।

प्रेसवार्ता में फार्मेसी के निदेशक डाॅ. अशोक चौहान ने बताया कि इस इम्युनिटी बूस्टर का प्रयोग करीब 5 हजार लोगों पर किया जा चुका है। कोरोना संक्रमण से पीड़ित मरीजों में भी इस बूस्टर के बेहतर परिणाम सामने आए हैं। दावा किया गया कि गंभीर कोरोना मरीजों के आक्सीजन लेवल को भी बढ़ाने में यह सहायक सिद्ध हुआ है। प्रयोगशाला में परीक्षण के बाद यह बूस्टर तैयार किया गया है। उन्होंने बताया कि कोरोना मरीजों को इस बूस्टर की डोज चाय या दूध में मिलाकर दी जा सकती है। यह दवा सामान्य लोगों की इम्युनिटी को बढ़ाती है। शुगर, उच्च रक्तचाप, सांस आदि रोगों से ग्रसित मरीज भी इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

वक्फ संपत्तियों को लेकर गंभीर सरकार
प्रेसवार्ता के दौरान वक्फ परिषद के सदस्य रहीस खान पठान ने बताया कि केंद्र सरकार देश में मौजूद वक्फ संपत्तियों को लेकर बहुत गंभीर है। पूरे देश में इस समय 6 लाख 60 हजार एकड़ वक्फ की जमीन मौजूद है। इसे अतिक्रमण और अवैध कब्जों से बचाने के लिए सरकार प्रभावी उपाय कर रही है। राज्य सरकारों को भी वक्फ संपत्तियों को अवैध कब्जे से बचाने के लिए प्रभावी उपाय करने के निर्देश दिए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *