हरिद्वार महिला ऐच्छिक ब्यूरो की मेहनत रंग लायी, चार बिखरे हुए परिवारों को किया एक

नवीन चौहान.
हरिद्वार महिला ऐच्छिक ब्यूरो ने बिछडे हुए चार परिवारों को आपसी बातचीत के जरिए फिर से एक कर दिया है। इस कार्य की हर किसी ने प्रशंसा की। शुक्ररवार को पुलिस लाइन रोशनाबाद में महिला ऐच्छिक ब्यूरो की बैठक का आयोजन किया गया।

बैठक में ऐच्छिक ब्यूरो की अध्यक्षा लता रावत, उपाध्यक्ष कमलेश उपाध्याय पुलिस अधीक्षक नगर हरिद्वार, सहायक पुलिस अधीक्षक सदर/नोडल अधिकारी महिला हेल्प लाइन डॉ विशाखा अशोक भदाणे सहायक पुलिस अधीक्षक ज्वालापुर/पुलिस लाइन सुश्री रेखा यादव, सदस्य डॉ अरुण कुमार मनोचिकित्सक, अधिवक्ता संगीता भारद्वाज, समाज सेविका मधु भदौरिया, डॉ रहमान शिक्षाविद, महिला उपनिरीक्षक अनीता शर्मा प्रभारी महिला हेल्पलाइन हरिद्वार द्वारा प्रतिभाग किया गया।

बैठक में महिला हेल्पलाइन हरिद्वार में प्रचलित जटिल पारिवारिक विवादों को सुना गया व परिवारों को टूटने से बचाने के लिए समझाया गया। बैठक में चुने गए जटिल पारिवारिक प्रकरणों में से 4 पारिवारिक प्रकरणों में ऐच्छिक ब्यूरो के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष एवं सदस्यों के समझाने पर आपसी सहमति से साथ साथ रहने का समझौता हुआ। एवं दो प्रकरणों में सोचने समझने के लिए अग्रिम तिथि दी गई।

ऐच्छिक ब्यूरो के समक्ष काउंसलिंग हेतु गंभीर एवं जटिल प्रकार के पारिवारिक प्रकरणों को रखा जाता है। जिसमें दोनों पक्षों को साथ साथ जीवन निर्वाह करने हेतु समझाया गया ताकि भविष्य में दोनों पक्षों के मध्य मनमुटाव ना हो वह दोनों का भविष्य उज्जवल हो। ऐच्छिक ब्यूरो में पारिवारिक मामलों की काउंसलिंग हेतु एक वकील एक मनोचिकित्सक एक समाज सेवक व अन्य सदस्यों की नियुक्ति की जाती है जो समय-समय पर जटिल पारिवारिक मामलों को सुनकर उनका निस्तारण करते हैं जिससे परिवारों को टूटने से बचाया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *