पर्यटन व्यवसाय से जुड़े संगठनों की बैठक में उठी चार धाम यात्रा के दौरान आरटीपीसीआर जांच की बाध्यता समाप्त करने की मांग

Demand for abolishing the obligation of RTPCR investigation during Char Dham Yatra arose in the meeting of organizations related to tourism business

आरटी पीसीआर रिपोर्ट की बाध्यता को समाप्त करने के लिए 18 जून को सुबह 10 बजे हरिद्वार से देहरादून तक पैदल मार्च किया जाएगा।

नवीन चौहान
हरिद्वार के होटल राज डीलक्स में पर्यटन व्यवसाय से जुड़े अनेक संगठनों की एक मीटिंग आयोजित की गई। बैठक में विभिन्न ट्रैवल एंड टूरिज्म से जुड़ी संस्थाओं एवं होटल एसोसिएशन हरिद्वार के पदाधिकारियों ने प्रतिभाग किया। इस बैठक की अध्यक्षता आशुतोष शर्मा ने की एवं संचालन विजय शुक्ला द्वारा किया गया।
बैठक में यह तय किया गया कि संयुक्त मोर्चा पर्यटन उद्योग के बैनर तले सरकार को चारधाम यात्रा खुलने एवं उत्तराखंड में प्रवेश करने के लिए आरटी पीसीआर रिपोर्ट की बाध्यता को समाप्त करने के लिए 18 जून को सुबह 10 बजे हरिद्वार से देहरादून तक पैदल मार्च किया जाएगा। जिसका नेतृत्व संजय शर्मा द्वारा किया जाएगा। अपनी मांगों को लेकर शिवमूर्ति चौक हरिद्वार से हरकी पैडी पर गंगा पूजन एवं अनेक संतों का आशीर्वाद लेने के उपरांत देहरादून के लिए प्रस्थान करेंगे। सरकार से यह आग्रह किया जाएगा कि वह चार धाम यात्रा को अति शीघ्र खोलें उत्तराखंड प्रवेश के लिए आरटीपीसीआर की बाध्यता को तत्काल प्रभाव से समाप्त किया जाए। सारे बाजार प्रतिदिन खोले जाएं, सभी टूरिज्म से जुड़े लोगों को चाहे वो टैक्सी वाले हो होटल वाले हो टूर एंड ट्रेवल्स वाले हो सभी को सस्ते सब्सिडाइज्ड सॉफ्ट लोन की व्यवस्था करवाई जाए। अन्य बहुत से संगठन जो ट्रांसपोर्ट एवं पर्यटन से जुड़े हैं उन सब का भी समर्थन इस पैदल मार्च को मिलेगा।
आज की मीटिंग में टैक्सी मैक्सी एसोसिएशन से गिरीश भाटिया चंद्रकांत शर्मा टूर ऑपरेटर एसोसिएशन से अभिषेक अहलूवालिया, दीपक भल्ला, अर्जुन सैनी, अंजित कुमार, टैक्सी यूनियन हरिद्वार से संजय शर्मा, पंचपुरी टेंपो ट्रैवलर एसोसिएशन से सुनील जायसवाल, हरिद्वार ट्रैवल ट्रेड एसोसिएशन से विजय शुक्ला, अरविंद खनेजा, गुरचमन सिंह आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *