हर्षोल्लास से मनाया मस्ताना जी महाराज का अवतार दिवस, जरूरतमंद परिवारों को बांटे कंबल

नवीन चौहान.
डेरा सच्चा सौदा के संस्थापक बेपरवाह शाह मस्ताना जी महाराज का पावन 130 वां अवतार धूमधाम और हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। अवतार दिवस पर जनपद वार विभिन्न राज्यों में साध संगत द्वारा भंडारे की नाम चर्चा का आयोजन किया गया। इस दौरान जरूरतमंदों की सहायता की गई।

इसी क्रम में जिला मेरठ में रुड़की रोड पर टोल प्लाजा से आगे तुलसी रिसोर्ट में आज भव्य भंडारे की नाम चर्चा का आयोजन हुआ। जिसमें जिला मेरठ के समस्त ब्लॉकों से लाखों श्रद्धालुओं ने भाग लिया। मंडप को सेवादारों द्वारा गुरूजी के बड़े-बड़े स्वरूपों के बैनर/ होर्डिंग्स, रंग बिरंगी लड़ियों एवं गुब्बारों से भव्य रूप से सजाया गया था। सड़क पर जाम न लगे एवं ट्रैफिक की व्यवस्था सुचारू रूप से संचालित रहे इसके लिए शाह सतनाम जी ग्रीन एस वेलफेयर विंग के सदस्यों को जगह-जगह तैनात किया गया।

सेवादारों द्वारा वाहनों को निर्धारित पार्किंग में पंक्तियों में लगवाया गया। साध संगत को भजन वाणी सुनने एवं पूजनीय गुरु जी के अनमोल वचन को सुनने के लिए जगह-जगह लाउडस्पीकर एवं बड़ी-बड़ी एलईडी स्क्रीन लगाई गई थी। नाम चर्चा का संचालन कुलदीप इंसान द्वारा किया गया। कविराज भाइयों द्वारा संगीत की मधुर धुनों पर शाह मस्ताना जी महाराज के पावन भंडारे संबंधित भजन लगाकर साध संगत को भाव विभोर कर दिया।

एलईडी स्क्रीनों के माध्यम से डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख संत डॉक्टर गुरमीत राम रहीम सिंह जी इंसान के रिकॉर्डिड वचन साध संगत को सुनाए गए, जिसमें गुरूजी ने बेपरवाह मस्ताना जी महाराज के पावन जीवन का संक्षिप्त में परिचय देते हुए फरमाया कि साईं जी ने ऐसा सर्व धर्म संगम डेरा सच्चा सौदा बनाया, जिसकी दुनिया में कोई मिसाल नहीं है। जिसमें सभी जात धर्म के लोग बिना किसी ढोंग पाखंड के अपने अल्लाह, गॉड, राम, ईश्वर का नाम ले सकते हैं। इसके लिए कोई जात, धर्म, गृहस्थ छोड़ने की आवश्यकता नहीं। प्रत्येक जीव अपने जात धर्म में रहकर अपने प्रभु परमात्मा को याद कर सकता है।

गुरुजी ने फरमाया कि हमने जो आपको 135 मानवता भलाई के कार्यों जैसे खून दान करना, वृक्षारोपण करना, घायलों को अस्पताल पहुंचाना, निर्धन जरूरतमंदों की हर संभव सहायता करना आदि कार्य करने की प्रेरणा दी है उनको सभी साथ संगत ने बिना किसी जात धर्म भेदभाव के बढ़-चढ़कर करते रहना है। एवं सभी धर्मों का आदर सत्कार करना है।

इस पर समूह साध संगत ने हाथ खड़े करके इंसानियत के मार्ग पर चलते हुए ज्यादा से ज्यादा मानवता भलाई के कार्यो को करने का प्रण लिया। इस अवसर पर समस्त साध संगत एकजुट नजर आई, सभी के चेहरों पर मुस्कान थी एवं सभी का अपने ग्रुप पर पूर्ण विश्वास था।

डेरा सच्चा सौदा के मीडिया सेवादार रकम सिंह ने बताया कि कुछ श्रद्धालुओं से पूछा गया कि अब जब गुरु जी जेल में हैं सभी फैसले उनके खिलाफ गए हैं ऐसे में क्या उनका मनोबल गिरा है। इस पर सभी श्रद्धालुओं ने जवाब दिया कि हम सब एकजुट हैं और हमारा आत्मबल पहले से अधिक है। हम आज भी ज्यों के त्यों इंसानियत के मार्ग पर अडिग हैं और हमें आशा है कि हमारे गुरुजी जल्द ही सभी केसों से बरी होकर हमारे बीच आएंगे।

श्रद्धालुओं ने कहा कि गुरूजी पर लगाए गए समस्त आरोप निराधार झूठे एवं राजनीति से प्रेरित हैं। नाम चर्चा के पश्चात लंगर समिति के सेवादारों द्वारा कुछ ही समय में समस्त साध संगत को भोजन लंगर, प्रसाद खिलाया गया ।इस शुभ अवसर पर सेवादारों द्वारा अति निर्धन 30 जरूरतमंद परिवारों को एक माह का राशन एवं कंबल भी वितरित किए गए। नाम चर्चा की व्यवस्थाओं में उत्तर प्रदेश के 45 मेंबर सतीश पठान पुरिया, कृष्णकांत, राजेंद्र, राजवीर, डॉक्टर हरवीर, ओमवीर, सतीश गुप्ता एवं बहन इंद्रेश, सीमा ,माया, सरोज आदि ने सहयोग प्रदान किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *