आलम से अर्जुन बना और 4 बैंकों से ले लिया 80 लाख रूपये का लोन


नवीन चौहान.
पुलिस ने एक ऐसे ठग को गिरफ्तार किया है जिसने शाह आलम से अर्जुन बनकर एक सॉफ्टवेयर कंपनी में नौकरी की और फिर 4 बैंकों से फर्जी तरीके से 80 लाख का लोन भी ले लिया। बैंक का नोटिस जब असली अर्जुन के पास आया तो उसने इसकी शिकायत साइबर सैल में की, जिसके बाद पुलिस ने इस नटवरलाल को गिरफ्तार कर लिया।

एसपी क्राइम अनित कुमार का कहना है कि इस मामले में हापुड़ के सलई गांव निवासी शाह आलम को गिरफ्तार किया गया है। उसके खिलाफ लालकुर्ती थाने में बिजनौर के नूरपुर कस्बा स्थित इस्लामनगर निवासी अर्जुन सिंह ने एक सप्ताह पहले 80 लाख रुपये की धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया था। अर्जुन सिंह ने बताया कि वह एमसीए की पढ़ाई पूरी कर चुके हैं। एक साल पहले उन्होंने सॉफ्टवेयर इंजीनियर की नौकरी पाने के लिए ऑनलाइन काउंसलिंग ली थी।

एक सप्ताह पहले लालकुर्ती स्थित आईसीआईसीआई बैंक से लोन से संबंधित नोटिस आया। इसके बाद पता चला कि उसके नाम से चार बैंकों से लोन है। इस मामले की जांच साइबर सेल मेरठ ने की। इसमें शाह आलम का नाम सामने आया था। इसके बाद मुकदमे में शाह आलम को नामजद किया गया था। साइबर सेल और लालकुर्ती पुलिस ने मंगलवार को शाह आलम गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस के मुताबिक आरोपी शाह आलम ने अर्जुन के दस्तावेज ऑनलाइन ले लिए थे। दस्तावेज में शाह आलम ने अपना फोटो लगाकर गुरुग्राम की एक कंपनी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर की नौकरी की। यहां छह महीने काम किया। यहां एक बैंक ने पांच लाख रुपये की लिमिट का क्रेडिट कार्ड दे दिया। उसके बाद शाह आलम ने कोटक, यश बैंक, आईसीआईसीआई और एचडीएफसी बैंक से 80 लाख का लोन ले लिया।

आरोप है कि शाह आलम ने बैंक से लोन का पैसा लेने के बाद नौकरी छोड़ दी। लोन का पैसा जमा नहीं हुआ तो बैंक का नोटिस अर्जुन सिंह के पास पहुंचा, तब जाकर पूरे मामले का भंडाफोड़ हुआ। पुलिस ने आरोपी के दो बैंक खाते सीज कर दिये हैं। इसके बारे में और जानकारी जुटायी जा रही है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *