Breaking News
Home / Big News / दो दोस्तों ने मिलकर लूट और हत्याकांड को दिया अंजाम, जानिए पूरी खबर
sp crime kamelesh or davendra

दो दोस्तों ने मिलकर लूट और हत्याकांड को दिया अंजाम, जानिए पूरी खबर

ब्यूरो। इनोवा वाहन लूटकर उसके चालक फईम की हत्या करने वाले दो आरोपियों को रूद्रपुर पुलिस ने मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों के कब्जे से लूटी गई कार व देशी तमंचा, करीब नौ जिंदा कारतूस व अन्य सामान बरामद किये है। हत्या करने का ताना बाना दोनों दोस्तों ने मिलकर बुना था। पुलिस आरोपियों की आपराधिक कुंडली को खंगाल रही थी। दोनों आरोपी कार लेकर नेपाल भागने की फिराक में थे।
एसपी सिटी देवेंद्र पीचा और एसपी क्राइम कमलेश उपाध्याय ने रूद्रपुर कोतवाली में संयुक्त प्रेस वार्ता के दौरान फईम हत्याकांड का खुलासा किया। बताया कि 2 नवंबर को सिंह टूर एंड टैªवल एजेंसी से रूद्रपुर से इलाहाबाद जाने के लिये एक इनोवा वाहन बुक कराया गया। वाहन संख्या डीएल12टीसी-0015 का चालक फईम पुत्र अहसान निवासी गल्ला मंडी,किच्छा, उधमसिंह नगर वाहन लेकर चला गया लेकिन वापिस नहीं आया। जिसके बाद कार मालिक रजनीश पुत्र विरेंद्र ने पुलिस को सूचना दी और अज्ञात में मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू कर दी। ssp krishan kumar vk  के निर्देशों पर एसपी अपराध कमलेश उपाध्याय के नेतृत्व में एक पुलिस टीम गठित की गई। पुलिस टीम ने कार के संबंध में सुरागरसी शुरू कर दी। पुलिस टीम ने सीसीटीवी फुटेज को खंगाला तो रविंद्र सिंह उर्फ हैप्पी पुत्र रतन सिंह निवासी गुरदासपुर पंजाब और जगजीत सिंह उर्फ जग्गापुत्र गुलमेर सिंह निवासी गुलरभोज थाना गदरपुर जिला उधमसिंह नगर के नाम प्रकाश में आए। पुलिस दोनों बदमाशों की तलाश में पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ में दबिश देने गई। इसी दौरान पुलिस टीम को पता चला कि दोनों लोग नेपाल भागने की फिराक में है। पुलिस टीम ने बदमाशों को गिरफ्तार करने के लिये जाल बिछा दिया। आखिरकार पुलिस टीम ने चेकिंग के दौरान झनकईया पूरनपुर रोड पर गिरफ्तार कर लिया। पुलिस पूछताछ में दोनों आरोपियों ने कार को लूटकर चालक की हत्या करना स्वीकार कर लिया है। हत्याकांड का खुलासा करने वाली पुलिस टीम में रूद्रपुर कोतवाली प्रभारी कैलाश चंद्र भटट, थाना पुलबटटा प्रभारी विद्या दत्त जोशी, एसएसआई कमलेश भट्ट, एसआई ओम प्रकाश, एसआई प्रकाश सिंह बिष्ट, एसआई मुकेश मिश्रा,एसआई योगेश कुमार और प्रकाश भगत व कांस्टेबल शामिल रहे।
हत्याकांड का मास्टरमाइंड रविंद्र
फईम हत्याकांड का मास्टरमाइंड रविंद्र खुद दो डंपर वाहनों का मालिक है। रविंद्र की जगजीत से दोस्ती है। दोनों दोस्तों ने नई इनोवा वाहन को लूटने का प्लान बनाया। प्लान के मुताबिक नई इनोवा वाहन को बुक भी करा लिया और चालक की हत्या कर दी गई। लेकिन वाहन को नेपाल लेकर जाने के इरादे पूरे नहीं हो पाए। इससे पूर्व ही पुलिस ने आरोपियों के मंसूबे फेल कर दिये।
पेंचकर से की हत्या
चालक फईम की हत्या करने के बाद शव को सुनसान जंगल में फेंक दिया गया। फईम की हत्या बड़े की निर्दयतापूर्ण तरीके से पेंचकर से गोंदकर की गई। जब उन्नाव के थाना अजगेन पुलिस ने अज्ञात शव बरामद होने की सूचना दी तब फईम के रूप में पहचान हुई।
पैंसों की खातिर की हत्या
रविंद्र और जगजीत ने कार लूटकर बेचकर पैंसा कमाने के लिये फईम की हत्या की थी। उक्त दोनों लोग शार्टकट तरीके से पैंसा कमाना चाहते थे। जिसके लिये उन्होंने कार लूटने की योजना बनाई।

About naveen chauhan

Check Also

जाम के झाम से निजात दिलाने के लिये एसएसपी का प्लान, जानिए पूरी खबर

नवीन चौहान, हरिद्वार। जनपद की यातायात व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिये एसएसपी रिधिम …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!