Breaking News
Home / Breaking News / द ब्राइट बर्ल्ड स्कूल में विश्व पर्यावरण दिवस की धूम

द ब्राइट बर्ल्ड स्कूल में विश्व पर्यावरण दिवस की धूम

नवीन चौहान
द ब्राइट बर्ल्ड स्कूल बहादरपुर जट्ट, पथरी में विश्व पर्यावरण दिवस मनाया गया। विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर स्कूल में एक संगोष्ठी का आयोजन किया। संगोष्ठी का उद्घाटन गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय के कुलसचिव प्रो दिनेश चन्द्र भट्ट ने द्वीप प्रज्वलित कर और स्कूल के प्रांगण में पौधारोपण किया। उन्होंने कहा कि वेद और पुराणों में पर्यावरण को लेकर बहुत सारे उद्धरण दिए गए है। कालीदास ने तो अभिज्ञान शाकुन्तलम में पर्यावरण के बारे में बहुत कुछ जानकारियां प्रकृति से सम्बन्धित दी गयी है। उन्होंने लिखा है कि धरती पर जब एक पौधे का रोपण किया जाता है तो वह एक पौधा दस पुत्रों के समान होता है। विश्व के कल्याण में हरियाली का चित्रण बहुत सारे कवियों और पर्यावरणविदों ने अपने-अपने ढ़ंग से किया है।
द ब्राइट बर्ल्ड स्कूल की मैनेजिंग डायरेक्टर श्रीमती इन्दु गुप्ता ने कहा कि पर्यावरण की समस्या एक गंभीर मुद्दा बनती जा रही है। मानव जाति की जागरूकता से ही इस समस्या का हल संभव है। पर्यावरण प्रदूषण को रोकने के लिए संगोष्ठी के माध्यम से स्कूली बच्चों को जागरूक करना चाहिए तथा सभी सकारात्मक प्रयास करने होंगे। प्रदूषण और ग्लोबल वार्मिंग से युक्त वातावरण में सकारात्मक बदलावों को लाने के लिए विद्यार्थियों के रूप में किसी देश के युवा सबसे बड़ी उम्मीद है।
द ब्राइट बर्ल्ड की प्रधानाचार्या श्रीमती विद्योत्तमा बहुगुणा ने कहा कि विद्यार्थियों को पर्यावरण का विषय आम तौर पर स्कूलों में पैराग्राफ, निबन्ध लेख लिखने, भाषण देने या वाद-विवाद में भाग लेने हेतु प्रेरित किया है। विश्व पर्यावरण दिवस पर विद्यार्थियों को अलग-अलग ढ़ंग से यह समझाया गया है कि समुदाय के लिए पर्यावरण बहुत जरूरी है। कुछ विद्यार्थियों द्वारा स्लोगन भी दिए गए है। उन्होंने कहा कि एक सप्ताह तक स्कूल द्वारा ग्रामीण स्तर पर पौधों का वितरण किया जाएगा।
द ब्राइट बर्ल्ड स्कूल की प्राध्यापिका श्रीमती निशा अग्रवाल ने कहा कि स्कूल से बाहर पर्यावरण का संरक्षित करना है तो प्रत्येक छात्र-छात्रा को एक पौधा अपने जीवन में अवश्य लगाना चाहिए। गढ़वाल में यह प्रथा है कि शादी के अवसर पर दूल्हन व दूल्हा द्वारा एक पौधा रोपा जाता है। जब भी दूल्हा दूल्हन के घर आता है तो उस पौधे का खर्चा दूल्हन के परिवार के संरक्षित करने के लिए देता है। इस प्रथा का आम लोगों में प्रचलन में लाने के लिए बहुत जरूरी है।
इस अवसर पर वीणा गुप्ता, मोक्षदा अग्रवाल आरती शर्मा, आँचल बहल, सुनीता चमोली , सरनजीत कौर , निधि उपाध्याय , ज्योति सिंह , सुभाष कुमार , सुनीता थापा , विदुषी शर्म, वैष्णवी माधुरी और आसू उपस्थित रहे

About naveen chauhan

Check Also

पत्नी मायके आई तो दामाद ने कर दी अपनी सास की हत्या

नवीन चौहान एक दामाद ने अपनी ही सास का गला दबाकर हत्या कर दी। आरोपी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

IMG-20190902-WA0050
add-uttaranchal
shapein
error: Content is protected !!