Breaking News
Home / India / जेल से​ ​रिहा होकर आरूषि के नाना—नानी के घर पहुंचे तलवार दंपत्ति

जेल से​ ​रिहा होकर आरूषि के नाना—नानी के घर पहुंचे तलवार दंपत्ति

Read Time1Second

नोएडा. आरुषि-हेमराज हत्याकांड में इलाहबाद हाइकोर्ट के आदेश के बाद जेल से रिहा होने के बाद राजेश तलवार और उनकी पत्नी नूपुर तलवार सोमवार शाम डासना जेल से रिहा होने के बाद नोएडा पहुंचे। यहां वह जलवायु विहार स्थित आरूषि के नाना-नानी के यहां पहुंचे। नाना-नानी का घर जलवायु विहार में तलवार के घर के नजदीक ही है। हालांकि, जेल से बाहर आने के बाद से लेकर घर की दहलीज तक पहुंचने के बाद उन्होंने अपनी चुप्पी नहीं तोड़ी। वह मीडिया से मुखातिब नहीं हुए। रिश्तेदार लोगों से हाथ जोड़कर अकेला छोड़ने की बात करते दिखे। इस दौरान पुलिस बल मौजूद रहा।

शाम करीब पांज बजे डासना जेल से रिहा होने के बाद वह गाड़ी में बैठकर सीधे नोएडा के जलवायु विहार स्थित एल-241 पहुंचे। यहां आरूषि के नाना-नानी रहते हैं। दो से तीन दिन रहने के बाद नुपुर और राजेश तलवार दोनों ही दिल्ली के हौजखास शिफ्ट हो जाएंगे। इस दौरान दोनों ने लोगों से बातचीत नहीं की। रिश्तेदारों ने घेराबंदी कर दोनों को नाना के घर तक पहुंचाया। जाहिर है कि हर किसी के जहन में सिर्फ एक सवाल है कि आरूषि को किसने मारा।

जलवायु विहार के गेट पर पहुंचते ही नूपुर की मां ने पहले उनकी नजर उतारी। इसके बाद उनकी आरती कर उनका मुंह मीठा कराया। इस दौरान नूपुर व राजेश दोनों ही भावुक हो गए। नूपुर गेट पर ही मां के गले लगकर रो पड़ीं। बामुश्किल नूपुर के रिश्तेदारों ने उन्हें हटाया। इसके बाद दोनों घर के अंदर चले गए। दरवाजा बंद कर लिया गया। रिश्तेदारों ने बताया कि दोनों को गहरा दुख है। लिहाजा सोसाइटी में वापस आने और अपने को बाहर के महौल में ढालने के लिए उन्हें थोड़ा समय लगेगा। ऐसे में उन्हें अकेला छोड़ दें।

नूपुर और राजेश जेल में साईं की पूजा अर्चना करते थे। दोहरे हत्याकांड के बाद भी वह निरंतर सार्इं मंदिर जाते रहे हैं। कयास लगाए जा रहे है कि वह दो दिनों बाद सार्इं भगवान का आशीर्वाद लेने जरूर जाएंगे। इस मौके पर डॉ. राजेश तलवार के भाई ने बताया कि भगवान का आशीर्वाद ही था कि दोनों चार साल बाद जेल से रिहा होकर लौटे हैं। खुशी है लेकिन जितने लोगों ने ब्लेम लगाया वह गलत था।

0 0
0 %
Happy
0 %
Sad
0 %
Excited
0 %
Angry
0 %
Surprise

About naveen chauhan

Check Also

डीएम सी रविशंकर ने हरकी पौडी ब्रह्मकुण्ड में एक लाख मत्स्य बीज किये संचित

सोनी चौहान नदियों एवं जलधाराओं में विद्यमान मत्स्य सम्पदा के संरक्षण एवं संवर्द्धन के लिए …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!