Breaking News
Home / Breaking News / दरोगा बोला पैंसा दे या लड़की नहीं तो मार दूंगा गोली

दरोगा बोला पैंसा दे या लड़की नहीं तो मार दूंगा गोली

नवीन चौहान
पुलिस सब इंस्पेक्टर ने शराब के नशे में चूर होकर खाकी को दागदार बना दिया। सब इंस्पेक्टर एक युवक के फ्लैट में जबरन घुस गया। वहां पर युवक की बहन से संबंध बनाने की मांग करने लगा। जब युवक ने मना कर दिया और गिड़गिड़ाने शुरू किया तो सब इंस्पेक्टर ने गोली मारने की धमकी दी। फिर भी बात नही बनी तो उसने बीस हजार की मांग कर दी। फिलहाल पीड़ित की शिकायत पर पुलिस सब इंस्पेक्टर के खिलाफ जांच शुरू हो गई है। मध्य प्रदेश के इंदौर के लसूडिया थाना क्षेत्र के गोल्डन पॉम सिटी में रविवार की रात यह घटना हुई।
इंदौर के विजय नगर थाने में सब इंस्पेक्टर राकेश कुमार शराब के नशे में चूर होकर रात दो बजे एक फ्लैट में घुस गया और एक युवती से यौन संबंध बनाने की जिद करने लगा। जब युवती के चचेरे भाई ने सब इंस्पेक्टर के हाथ जोडे और युवती को अपनी बहन बताया तो उसने युवती से संबंध नहीं बनाने के एवज में 20 हजार रूपये की मांग की। युवक ने जब पैसे नहीं दिए तो उसकी जमकर पिटाई कर दी। मामले ने तूल पकड़ा तो मौके पर पुुलिस पंहुची और एसआई राकेश को पकड़ लिया। जिसके बाद विभागीय जांच शुरू कर दी गई है।
मध्य रात्रि में दरोगा पहुंचा फ्लैट में
पीड़ित लडकी के भाई ने शिकायत दर्ज कराई है। पीड़ित रीवा का रहने वाला है और किराए का फ्लैट लेकर इंदौर में बीबीए की पढ़ाई कर रहा है। उसका चचेरा भाई भी उसके साथ ही रहता है और यूपीपीएससी की तैयारी कर रहा है। जबकि बहन एमबीए की पढ़ाई कर रही है।
कॉलगर्ल लेकर आए हो
इसी बिल्डिंग में एसआई राकेश पीड़ित के ऊपर वाले फ्लैट में रहता है। राकेश ने उसकी बहन को लिफ्ट में जाते देख लिया था। जिसके बाद दरोगा फ्लैट में आ धमका। उसने इधर उधर देखा और पूछा कमरे में कौन सो रहा है। पीड़ित ने कहा मेरी बहन आई है। दरोगा बोला तुम कॉर्लगर्ल लेकर आए हो। सब इंस्पेक्टर उस लड़की से शारीरिक संबंध बनाने की जिद पर अड़ गया। पीड़ित ने समझाया तो कहा कि मैं जांच करूंगा। उसने उसकी बहन से भी पूछताछ की। पीड़ित ने मां बाप से बात कराने की बात भी की। लेकिन दरोगा नही माना। आखिरकार एसआई राकेश ने कहा कि चलो 20 हजार रूपये दे दे और मामला यही पर रफादफा कर ले। पीड़ित ने जब पैंसा देने से मना कर दिया तो दरोगा बोला मुझे पैसा या लडकी दोनों में एक तो चाहिए। इसके बाद राकेश ने पीड़ित की बेरहमी से पिटाई शुरू कर दी।
पीड़ित ने दरोगा के सिर पर ईट मारी और 100 नंबर पर फोन कर दिया। सूचना पर लसूडिया पुलिस मौके पर पहुंच गई। उस वक्त एसआई राकेश वर्दी में था। और उसके पास सरकारी पिस्टल भी थी। उसने लिफ्ट में ही पीड़ित से कहा कि तेरेे सिर में छह गोलियां मारूंगा ।
पुलिस ने पीड़ित की शिकायत लेकर एसआई राकेश का मेडिकल परीक्षण कराया। एसआई ने बचाव में अपना पक्ष रखा है। आरोपी दरोगा ने कहा कि छात्रों के बारे में शिकायत मिलती थी। रात में संदिग्ध अवस्था में दिखने पर सख्ती से पूछताछ की टीआई संतोष कुमार दूधी के मुताबिक, एसआई का क्षेत्र अधिकार ही नहीं है। उसके खिलाफ रिपोर्ट बनाकर अफसरों को भेज दी है।

About naveen chauhan

Check Also

डीएम दीपेंद्र चौधरी चुस्त और विभागीय अधिकारी सुस्त, जनता दरबार में खुली पोल

नवीन चौहान हरिद्वार जिलाधिकारी दीपेंद्र चौधरी जहां पीड़ितों की समस्याओं को गंभीरता से सुनते है …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!