Breaking News
Home / Latest News / ​14 फरवरी ये वो दिन है जब हमारे कई जवान हुए थे शहीद, ब्लैक डे

​14 फरवरी ये वो दिन है जब हमारे कई जवान हुए थे शहीद, ब्लैक डे

Read Time2Seconds

14 फरवरी वैलेंटाइन डे नहीं शहीद दिवस के रूप में मनाये
सोनी चौहान
14 फरवरी वैलेंटाइन डे नहीं शहीद दिवस के रूप में मनाये। 14 फरवरी 2019 को जम्मू श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर भारतीय सुरक्षा कर्मियों को ले जाने वाले सीआरपीएफ के वाहनों के काफिले पर आत्मघाती हमला हुआ। जिसमें 40 भारतीय सुरक्षा कर्मियों की जान गयी थी। यह हमला जम्मू और कश्मीर के पुलवामा ज़िले के अवन्तिपोरा के निकट लेथपोरा इलाके में हुआ था।
14 फरवरी 2019 यह वही दिन है जब भारत माता ने अपने 40 जवानों को खोया था। एक ओर तो प्रेमी वैलेंटाइन डे मना रहें थे ओर दूसरी ओर हमारे वीर जवान देश के लिए शहीद हो गये थे। जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर करीब 2500 जवानों को लेकर 78 बसों में सीआरपीएफ का काफिला गुजर रहा था। सीआरपीएफ का काफिला पुलवामा में पहुंचा ही था। कि तभी सड़क के दूसरे साइड से सामने से आ रही एक कार ने सीआरपीएफ के काफिले के साथ चल रहे वाहन में टक्‍कर मार दी। जैसे ही सामने से आ रही एसयूवी काफिले से टकराई और जब तक सीआरपीएफ के जवान कुछ समझ पाते तब तक विस्फोटकों से लदी इस कार ने ऐसा धमाका किया, जिससे पूरा देश दहल उठा। 14 फरवरी का दिन भारत के इतिहास में काला दिन साबित हो गया।
वो धमाका इतना जबरदस्त था कि कुछ देर तक सब कुछ धुआं-धुआं हो गया। जैसे ही वहां से धुआं हटा वहां का दृश्य ऐसा था कि देखने वाले को दिल दहल जाये। इतना भयावह था कि इसे देख पूरा देश रो पड़ा। उस दिन पुलवामा में जम्मू श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर जवानों के शव इधर-उधर बिखरे पड़े थे। चारों तरफ खून ही खून और मांस के टुकड़े दिख रहे थे। जवान अपने साथियों की तलाश में जुट गए। तुरंत पूरे देश में हलचल मच गई। हमारे देश के 40 बहादुर जवान शहीद हो चुके थे। और हमारे कई जवान घायल अवस्था में तड़प रहे थे। सेना ने बचाव कार्य शुरू किया और उन्हें तुरंत ही अस्पताल ले जाया गया। बचाव कार्य और सर्च ऑपरेशन दोनों एक साथ चल रहे थे।
बताते चले कि इस आत्मघाती हमले को अंजाम देने वाला आतंकी आदिल अहमद डार था। आतंकी आदिल अहमद डार ही उस कार को चला रहा था। जिसमें विस्फोटक थे। इसने खुद को इस हमले में उड़ा लिया। घटना के तुरंत बाद पूरे देश में शोक की लहर दौड़ गई। पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने इस आतंकी हमले की जिम्मेदारी ली।
इस आतंकी हमले के बाद भारत के सभी लोगो की जुबान पर इस आतंकी हमले का मुह तोड जवाब देने की बात आ गई। मीडिया और सोशल मीडिया के द्वारा भारत की सरकार पर दबाव बनाया जा रहा था। हर नागरिक, सिविल सोसाइटी और विपक्ष सरकार को आतंकवादियों और उसके आका पाकिस्तान से बदला लेने के लिए कह रहा था। फिर आखिरकार ऐसा हुआ कि भारतयी सेना ने पुलवामा हमले के ठीक 12 दिन बाद आतंकियों पर हमला किया। और 26 फरवरी को भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान स्थित बालाकोट में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद कै ठिकानों पर एयरस्ट्राइक कर दिया। इस एयरस्ट्राइक में भारतीय वायुसेना ने इतनी बमवर्षा की कि उसके आतंकी ठिकाने पूरी तरह से ध्वस्त हो गए और करीब 300 आतंकवादी मारे गए। इस तरह से भारतीय वायुसेना ने बालाकोट में आतंकी शिविरों को नेस्तनाबूत कर पुलवामा अटैक का बदला ले लिया।

0 0
0 %
Happy
0 %
Sad
0 %
Excited
0 %
Angry
0 %
Surprise
sai-ganga-update-hindi
dhoom-singh

About naveen chauhan

Check Also

उत्तराखंड में 14 नए कोरोना पॉजिटिव और मिले

नवीन चौहान उत्तराखंड में 14 और लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए है। हरिद्वार के कलियर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!