Breaking News
Home / Breaking News / मेला क्षेत्र को 12 सुपर जोन, 31 जोन और 133 सेक्टर में बांटा

मेला क्षेत्र को 12 सुपर जोन, 31 जोन और 133 सेक्टर में बांटा

नवीन चौहान
पुलिस महानिदेशक कानून एवं व्यवस्था अशोक कुमार ने कहा कि मेला क्षेत्र को 12 सुपर जोन, 31 जोन और 133 सेक्टर में विभाजित कर दिया गया है। सुपर जोन में अपर पुलिस अधीक्षक, जोन में पुलिस उपाधीक्षक एवं सेक्टर में निरीक्षक और थाना प्रभारी व वरिष्ठ उप निरीक्षक स्तर के अधिकारियों की तैनाती की गई है। चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तैनात किया गया है। हरकी पैड़ी पर क्यूआरटी को तैनात किया गया है। सुरक्षा के दृष्टिगत सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है। किसी प्रकार की अनहोनी को रोकने के लिए पुलिस प्रशासन पूरी तरह से मुस्तैद है।
मेला नियंत्ररण सभागार में पुलिस महानिदेशक कानून एवं व्यवस्था अशोक कुमार ने पत्रकारों से वार्ता करते हुए कांवड़ मेले की तैयारियों की जानकारी दी। बताया कि कांवड़ मेले के दौरान भारी वाहनों को प्रथम चरण में 17 जुलाई से 23 जुलाई तक रात्रि में 11 बजे से सुबह 4 बजे तक आवागमन की अनुमति होगी। कांवड़ मेले के द्वितीय चरण में 24 जुलाई से मेला समाप्ति तक जनपद में वाहनों का प्रवेश पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगा। कांवड़ के दौरान आग लगने की घटनाओं को रोकने के लिए 10 फायर टैंकर व 4 बैक पैक सैट तथा एक पम्प यूनिट को मय स्टाफ के नियुक्त किया गया है। घुड़सवार पुलिस की टीम टीमें क्षेत्र का भ्रमण करेंगी। 9 डीजे प्वाइंटस व यातायात डायवर्जन प्वाइंटस एवं 18 पार्किंग स्थल बनाये गए है। करीब दस हजार पुलिसकर्मी कांवडि़यों की सुरक्षा की बाबत चप्पे-चप्पे पर तैनात रहेंगे। किसी भी अप्रिय घटना को रोकने और सुरक्षा व्यवस्था को बहाल करने में सहयोग करेंगे। इस दौरान पूर्व की तरह एसपीओ की तैनाती रहेगी। 29 पुलिस सहायता केंद्र खोले जायेंगे। डीजी एलओ अशोक कुमार ने कांवड़ मेले के दौरान हरिद्वार की जनता से सहयोग करने की अपील की है। इस दौरान पुलिस महानिरीक्षक गढ़वाल परिक्षेत्र अजय रौतेला, एसएसपी हरिद्वार जन्मेजय खंडूरी, 40वीं वाहिनी पीएसी कमांडेंट रोशन लाल शर्मा, एसपी क्राइम मंजूनाथ टीसी, एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय समेत कई पुलिस अधिकारी मौजूद रहे।

About naveen chauhan

Check Also

हरिद्वार के स्कूलों की छुट्टी के संबंध में बोले मुख्य शिक्षाधिकारी

नवीन चौहान उत्तराखंड के पहाड़ों में भारी बारिश हो रही है। जिसके चलते मौसम विभाग …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!