Breaking News
Home / Big News / कुंभ महापर्व 2021, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने संतों से लिए सुझाव

कुंभ महापर्व 2021, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने संतों से लिए सुझाव

नवीन चौहान
महाकुम्भ पर्व 2021  की तैयारियों काआगाज हो गया है। प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कुंभ महापर्व को सफल बनाने और कुंभ की तैयारियों में अखाड़ों परिषद के अध्यक्ष, महामंत्री व सभी अखाड़ों के प्रमुख संतों के साथ बैठक कर उनके सुझाव को आमंत्रित किया। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत व शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक, जिलाधिकारी दीपक रावत, एसएसपी जन्मेजय खंडूरी ने संतों के सभी सुझावों को बारीकी के साथ सुना और उनकी पूर्व की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए 2021 के कुंभ महापर्व में उन समस्याओं को दूर करने का संकल्प किया। बैठक में समस्त अखाड़ों के प्रतिनिधियों के साथ अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरि ने संत समाज की ओर से अपने सुझाव शर्त व आवश्यकतायें बतायी।
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की अध्यक्षता में आयोजित संतों के साथ हुई महत्वपूर्ण बैठक में जिलाधिकारी दीपक रावत ने कुम्भ महापर्व 2021 के संबंध में समस्त विभागों द्वारा प्रस्तावित कार्य, लागत एवं उनके औचित्य सहित कुंभ मेला क्षेत्र विस्तार की आवश्यकता से भी सभी को अवगत कराया। डीएम दीपक रावत ने कुंभ महापर्व को लेकर की जाने वाली तैयारियों का एक प्रजेंटेशन प्रस्तुत किया। डीएम ने मेला क्षेत्र के विस्तार किए जाने के लिए चिन्हित क्षेत्र भी बताए। उन्होंने कहा कि कुंभ 2010 की तुलना में इस बार कुंभ श्रद्धालुओं आगन्तुकों की संख्या में भारी बढ़ोतरी होने की सम्भावना है। पुराने मेला क्षेत्र को पर्याप्त नहीं माना जा सकता। हिलबाईपास मार्ग कुम्भ की दृष्टि से अत्यधिक महत्वपूर्ण किन्तु इसके धंसने व जगह जगह से क्षतिग्रस्त होने के चलते मार्ग सुगम नहीें है। मुख्यमंत्री से अनुरोध किया कि उक्त मार्ग का वैज्ञानिक परीक्षण शुरू कराते वैज्ञानिक तरीके से मार्ग को सुचारू बनाने की आवश्यकता है।
विभिन्न अखाड़ों ने सुझाव दिये तथा अपनी अपनी समस्याओं से प्रशासन को अवगत कराया।


मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि इस बार होने वाला महाकुंभ पर्व का आयोजन दिव्य एवं भव्य होने के साथ ऐतिहासिक एवं विशेष होगा। उन्होंने विश्व के सबसे बड़े आयोजन में सरकार, शासन— प्रशासन को संतों का आर्शीवाद मिलने तथा सहयोग की बात कही। इसी के साथ सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने तमाम व्यवस्थाओं को समय से पूर्ण करने का भरोसा दिया। प्रस्तावित रिंग रोड़ और नेशनल हाईवे के कार्य को कुंभ से पूर्व संपन्न कराने को चुनौती माना लेकिन इसे पूरा करने का भरोसा भी दिया। उन्होंने कहा कि हरिद्वार में संतों के आशीर्वाद से और मां गंगा की कृपा से कुंभ महापर्व के आयोजन को शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न करायेंगे। अखाड़ा परिषद के पदराधिकारियों ने सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत को हरसंभव सहयोग करने का भरोसा दिया है।
बैठक में सचिव शहरी विकास चंद्रेश यादव, एसएसपी जन्मेजय खण्डूरी, निरंजनी अखाड़े के सचिव मंहत रविंद्र पुरी, महानिर्वाणी अखाड़े के महंत रविंद्र गिरि, जूना अखाड़े के सचिव हरि गिरि महाराज, एसडीएम कुश्म चौहान, एसडीएम सोहन सिंह, तहसीलदार आशीष घिल्डियाल, एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय, एसपी क्राइम मंजूनाथ टीसी, एएसपी आयुष अग्रवाल सहित समस्त विभागों अधिकारी के साथ भाजपा मंडल महामंत्री विकास तिवारी,नरेश शर्मा मौजूद रहे रहे।

सीएम ने संतों का किया सम्मान
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने हिंदू संस्कृति के संवाहक संतों को शॉल ओढ़ाकर स्वागत किया। उन्होंने अखाड़ा ​परिषद के सभी पदाधिकारियों और सभी अखाड़ों के प्रमुखों का आशीर्वाद लिया। मुख्यमंत्री के सम्मान की परंपरा से संत बेहद खुश नजर आए।

 

About naveen chauhan

Check Also

महिलाओं को स्वयं अपनी मानसिकता बदलने की जरूरत

सोनी चौहान भारतीय जागृति समिति द्वारा भारतीय महिला जागृति समिति द्वारा, महिला कानून में, जागृति …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!