Breaking News
Home / Breaking News / पत्रकारिता का खौफ दिखाकर रंगदारी वसूलने वाला पत्रकार पहुंचा जेल, देंखे वीडियो

पत्रकारिता का खौफ दिखाकर रंगदारी वसूलने वाला पत्रकार पहुंचा जेल, देंखे वीडियो

नवीन चौहान
लोकतंत्र का सबसे मजबूत स्तंभ पत्रकारिता का है। पत्रकार पीड़ितों को न्याय दिलाने में उनकी आवाज बनते है। एक सच्चे और ईमानदार पत्रकार की बदौलत जब किसी पीड़ित को इंसाफ मिलता है तो यही सच्ची पत्रकारिता कहलाती है। लेकिन आजकल इस पत्रकारिता के ग्लैमरस में कुछ धंधेबाज शामिल हो गए है। जो पत्रकारिता की आड़ में लोगों को ब्लैकमेल करने का कार्य कर रहे है। कारोबारियों को तंग करते है और उनसे रंगदारी वसूलते है। अगर कारोबारी उनकी डिमांड को पूरी करने में आनाकानी करता है तो उनकी झूठी शिकायत अधिकारियों से कराकर छापेमारी करते है। ऐसे ही एक मामला यूपी के बुलंदशहर का है। जहां एक चैनल के लिए काम करने वाला संवाददाता नदीम खान रंगेहाथ रंगदारी मांगते हुए स्टिंग ऑपरेशन में कैद हुआ है। जिन व्यापारियों से नदीम खान ने रंगदारी मांगी उन्होंने ही नदीम खान का स्टिंग ऑपरेशन कर लिया और पुलिस से शिकायत करके मुकदमा दर्ज करा दिया। बुलंदशहर पुलिस ने नदीम खान को गिरफ्तार कर लिया है।
ग्रेटर नोएडा में हजारों करोड़ के बाइक बोट घोटाले में बुलंदशहर के भी दर्जनों कारोबारियों ने करोड़ों रुपए कमाए हैं। बाइक बोट कंपनी के मुखिया और मुख्य आरोपी संजय भाटी के जेल जाने के बाद अब बाइक वोट के सहारे मुनाफा कमाने वालों पर पुलिस की जांच का शिकंजा कसा है। बुलंदशहर में एक चैनल के पत्रकार नदीम खान ने ऐसे ही कुछ कारोबारियों को जांच में नाम उजागर कर देने का खौफ दिखाकर कई लाख रुपये की कमाई की है। नदीम खान की वसूली का शिकार बने कारोबारियों में बुलंदशहर का एक नामचीन मिठाई विक्रेता और एक रियल एस्टेट कारोबारी शामिल है। इसके बाद नदीम खान ने निशाना बनाया टेंट कारोबारी रिंकू मित्तल और उनके दोस्त वासिक आज़ाद को जो कई स्कूलों के मालिक भी हैं।

नदीम खान फेसबुक और व्हाट्सएप पर वासिक आजाद के खिलाफ कई दिनों से लगातार आपत्तिजनक पोस्ट डाल रहा था। इसके अलावा वह लगातार इन दोनों कारोबारियों के संपर्क में भी था और उनसे लाखों रुपए की रकम वसूलने के लिए दबाव बना रहा था। अपना पिंड छुड़वाने के लिए इन कारोबारियों ने नदीम खान को कई दिन पहले 50,000 रुपये दे दिए थे। एक दूसरे कारोबारी से भी दो लाख रुपये इसी दौरान नदीम खान ने वसूल किए। लेकिन इसके बाद भी नदीम खान का पेट नहीं भरा। उसने कारोबारियों के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट करना जारी रखा। उन्हें फोन पर धमकी दी कि अगर 10 लाख रुपए नहीं दिए तो चैनल पर खबर चलवाकर वह बाइक बोट घोटाले में कारोबारियों के नाम का खुलासा कर देगा।

ब्लैकमेलिंग से आजिज वासिक आजाद और रिंकू मित्तल ने नदीम खान को अपने आवास पर बातचीत के लिए बुलाया और अभी तक वसूले गए लाखों रुपए की स्वीकारोक्ति के साथ उसकी 10 लाख रुपये की मांग का स्टिंग ऑपरेशन कर लिया। दोनों कारोबारियों ने स्टिंग ऑपरेशन का वीडियो लिखित शिकायत के साथ बुलंदशहर के एसएसपी को सौंप दिया और आरोपी पत्रकार नदीम खान के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। एसएसपी के आदेश के बाद कोतवाली सिटी में इस मामले में केस दर्ज कर लिया गया और आज सुबह नदीम खान को पुलिस ने उनके घर से गिरफ्तार कर लिया। नदीम खान के पास से पूर्व में वसूले गए रंगदारी के 25000 भी बरामद किए गए हैं।

नदीम खान कुछ साल पहले ही एक चैनल का पत्रकार बना है। पत्रकारिता के अलावा उसका पुश्तैनी धंधा भारत दवाखाना के नाम से बुलंदशहर में चलता है। पौरुष शक्ति बढ़ाने की दवाएं इस दवाखाने पर दी जाती हैं। पत्रकारिता के साथ साथ नदीम खान को बहुत मोटी आमदनी इस पुश्तैनी धंधे से भी थी। पौरुष शक्ति बढ़ाने के नुस्खे से वह बुलंदशहर के कई अफसरों को लाभान्वित कर चुका है. इस दवा के जरिए वह अफसरों के बेडरूम तक एंट्री पा जाता था और पत्रकारिता की आड़ में रंगदारी का धंधा कर रहा था।

About naveen chauhan

Check Also

हरिद्वार के नामी संत ने खुद को गोली से उड़ाया,मौत

नवीन चौहान हरिद्वार के नामी संत और निरंजनी अखाड़े के श्री महंत आशीष गिरी ने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!