Breaking News
Home / Education / वि​द्यार्थियों के जीवन में सबसे अच्छी दोस्त किताबें हैं: प्रधानाचार्य पीसी पुरोहित

वि​द्यार्थियों के जीवन में सबसे अच्छी दोस्त किताबें हैं: प्रधानाचार्य पीसी पुरोहित

Read Time0Seconds

प्रधानमंत्री मोदी ने बच्चों को परीक्षा के दौरान तनाव मुक्त रहने के दिये टिप्स, परीक्षा पे चर्चा

सोनी चौहान
डीएवी के प्रधानाचार्य पीसी पुरोहित ने बच्चों का मनोंबल बढ़ाया। उन्होंने कहा कि वि​द्यार्थी जीवन में वि​द्यार्थियों की सबसे अच्छा दोस्त उसकी किताबें होती है। हमें अपनी किताबों से प्रेम करना चाहिए। डीएवी स्कूल में 20 जनवरी को प्रधानमंत्री मोदी का परीक्षा पर चर्चा कार्यक्रम का ​सीधा प्रसारण दिखाया गया। विद्यालय ने कार्यक्रम के लिए उचित व्यवस्था कर रही थी।


परीक्षा पे चर्चा एक सशक्त प्रयास है हमारे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का और उनका प्रयास सफल रहा है। छात्रों, शिक्षकों एवं अभिभावकों को जोड़ने में। सत्र 2020 के आगामी बोर्ड परीक्षा के कक्षा दसवीं एवं बारहवीं के विद्यार्थियों के लिए टेलिविज़न के माध्यम से सीधे प्रसारित किया जाने वाला यह कार्यक्रम सार्थक रहा। डीएवी विद्यालय में सीधे प्रसारण को विद्यार्थियों को दिखाने के लिए उचित प्रबन्ध किए गए। इसमें बोर्ड परीक्षा में सम्मिलित होने वाले कक्षा दसवीं एवं बारहवीं के विद्यार्थियों ने भाग लिया।


प्रधानमंत्री ने विद्यार्थियों को अच्छे अंक लाने के लिए परीक्षा के समय हतोत्साहित न होने और प्रश्न पत्र देखकर सामान्य स्थिति में उसे हल करने के लिए अनेक सुझाव दिए। प्रधानमंत्री ने ‘करने’ पर महत्व दिया, कुछ बनने का लक्ष्य न साधकर कुछ करने का लक्ष्य साधना महत्वपूर्ण है। बारहवीं के विद्यार्थियों के लिए प्रतियोगी परीक्षाओं में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए सुझाव दिए। विद्यार्थियों ने जो भी प्रश्न पूछे उनसे सभी लाभान्वित हुए। शिक्षकों से मोदी ने तनावरहित व क्रोधरहित वातावरण बनाने की अपील की। उन्होनें अभिभावकों को यह सुझाव दिया कि वे विद्यार्थियों से उनकी रूचि के अनुसार ही अपेक्षाएं रखें। उन पर किसी काम को थोपे नहीं अपितु प्रशंसनीय रूप से कराएं।
बच्चे प्रधानमंत्री के इस प्रयास से अत्यन्त हर्षित थे कि हमारे देश के प्रधानमंत्री उनसे वार्ता कर उनका मनोबल वैसे ही बढ़ाने का प्रयास कर रहे हैं जैसे उनके माता-पिता एवं अध्यापक करते हैं।


प्रधानाचार्य पीसी पुरोहित जी ने विद्यार्थियों कोे किताबों से प्रेम करने की सलाह दी। उन्होनें कहा कि जीवन में आपकी सबसे अच्छी दोस्त किताबें ही हैं इसलिए इन्हें अपनाइए अपना ज्ञानवर्धन कीजिए और अपने जीवन में सफलता का आनन्द लीजिए।

0 0
0 %
Happy
0 %
Sad
0 %
Excited
0 %
Angry
0 %
Surprise

About naveen chauhan

Check Also

डीएम सी रविशंकर ने हरकी पौडी ब्रह्मकुण्ड में एक लाख मत्स्य बीज किये संचित

सोनी चौहान नदियों एवं जलधाराओं में विद्यमान मत्स्य सम्पदा के संरक्षण एवं संवर्द्धन के लिए …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!